DA Image
17 सितम्बर, 2020|9:18|IST

अगली स्टोरी

जिले में सादगी के साथ भक्तों ने की भगवान अनंत की पूजा

default image

अनंत चतुर्दशी की पूजा जिले में सोमवार को सादगी एवं भक्तिभाव के साथ मनाया गया। हनुमान वाटिका में पुरोहितो के द्वारा अनंत चतुदर्शी की पुजा संपन्‍न करायी गई। पुरोहितो ने बताया कि अनंत चतुदर्शी के दिन भगवान विष्‍णु के अनंत रुप की अराधना की जाती है। भक्‍त भगवान विष्‍णु की पुजा कर 14 गांठो का अनंत धागा बनाकर अपने बाहों में बांधते है। ऐसी मान्‍यता है कि अनंत सुत्र के 14 गांठे 14 लोक की प्रतीक होती है। लोग उपवास रखकर भगवान की पुजा करते है। पुरोहित के अनुसार जब पांडव जुए में अपना राजपाट हार गए थे तब भगवान श्री कृष्‍ण ने पांडवो को अनंत चतुदर्श्‍ी का व्रत रखने की सलाह दी थी। श्री कृष्‍ण की आज्ञा से युधिष्‍टर ने 14 वर्षो तक अनंत भगवान की विधि पुर्वक व्रत किया और चीर काल तक राज किया। मौके पर महिलाओं ने मास्‍क पहन रखी थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Devotees worshiped Lord Anant with simplicity in the district