DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  सिमडेगा  ›  एक की मौत के बाद ग्रामीणों के जेहन में दिखता है कोरोना का डर

सिमडेगाएक की मौत के बाद ग्रामीणों के जेहन में दिखता है कोरोना का डर

हिन्दुस्तान टीम,सिमडेगाPublished By: Newswrap
Thu, 13 May 2021 10:50 PM
एक की मौत के बाद ग्रामीणों के जेहन में दिखता है कोरोना का डर

जलडेगा प्रतिनिधि

जलडेगा के ओड़गा कुम्‍हारटोली ने भी कोरोना से एक ग्रामीण को खोया है। यहां करीब 45 वर्षीय एक ग्रामीण की मौत हुई थी। राउरकेला के चिकित्‍सकों ने उसे कोविड पॉजिटिव बताते हुए इलाज कर रहे थे। इसी दौरान उनकी मौत हो गई थी। भले ही इलाज के दौरान उनकी मौत राउरकेला स्थित अस्‍पताल में हुई थी। लेकिन इसकी सूचना जैसे ही ग्रामीणों के कानो तक पहुंची। लोग भय और दहशत के साये में जिने लगे। हिन्‍दुस्‍तान टीम जब गुरुवार को गांव पहुंची। तो लोग कोरोना के भय से हिन्‍दुस्‍तान टीम के पास आने से भी कतरा रहे थे। बहुत मुश्किल से चंद ग्रामीण ही हिन्‍दुस्‍तान टीम के पास पहुंचे। उनके चेहरे में कोरोना का खौ़फ साफ झलक रहा था। सभी ग्रामीण फेस मास्‍क लगाए हुए थे। साथ ही सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करते हुए बातें कर रहे थे। कोरोना का नाम लेते हुए ग्रामीणों के चेहरे में एक अनजाना सा डर दिख रहा था।

ग्रामीणों ने कहा, घर में रहकर ही सुरक्षित हैं

ग्रामीणों ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचना है तो घरों के अंदर ही रहना होगा। घर में हैं तो सुरक्षित है। ग्रामीणों ने कहा कि जब से एक की मौत हुई तब से वे लोग एक दूसरे का घर आना जाना बंद कर दिए हैं। सोशल डिस्‍टेंसिंग का भी पालन कर रहे हैं।

गांव पर रखी जा रही है पैनी नजर

एमओवाईसी डॉ अमीत आनंद ने कहा कि ग्रामीण की मौत के बाद गांव में जाकर उनके परिवार के सभी सदस्‍यों एवं ग्रामीणों का कोरोना जांच किया जा चुका है। लेकिन अभी तक किसी भी अन्‍य ग्रामीणों को कोरोना वायरस का लक्षण नहीं मिला है। कुछ ग्रामीणों में सर्दी-खांसी का लक्षण पाया गया था। जिन्‍हें दवा दिया जा चुका है।

संबंधित खबरें