DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुचाई की रूगुडीह-चाटुबासा जर्जर सड़क को लेकर ग्रामीण नाराज

कुचाई की रूगुडीह-चाटुबासा जर्जर सड़क को लेकर ग्रामीण नाराज

1 / 2जिले के कुचाई प्रखंड के चाटुबासा से रूगुडीह गांव को जोड़ने वाली जर्जर हो चुकी है, जिससे ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सड़क पर जगह-जगह गड्ढे बन गये हैं। इससे आक्रोशित रूगुडीह के...

कुचाई की रूगुडीह-चाटुबासा जर्जर सड़क को लेकर ग्रामीण नाराज

2 / 2जिले के कुचाई प्रखंड के चाटुबासा से रूगुडीह गांव को जोड़ने वाली जर्जर हो चुकी है, जिससे ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सड़क पर जगह-जगह गड्ढे बन गये हैं। इससे आक्रोशित रूगुडीह के...

PreviousNext

जिले के कुचाई प्रखंड के चाटुबासा से रूगुडीह गांव को जोड़ने वाली जर्जर हो चुकी है, जिससे ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सड़क पर जगह-जगह गड्ढे बन गये हैं। इससे आक्रोशित रूगुडीह के ग्रामीणों ने सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया और लोकसभा चुनाव में वोट नहीं करने की घोषणा की।

जनप्रतिनिधयों को भी करायेंगे अवगत : वोट बहिष्कार की गूंज जनप्रतिनिधियों से लेकर प्रशासन तक पहुंचाने का निर्णय लिया। रूगुडीह पंचायत के मुखिया प्रतिमा देवी ने ग्रामीणों की मांग को जायज करार देते हुए कहा कि जर्जर सड़क के लिए ग्रामीण कई साल से संघर्षर कर रहे हैं। ग्रामीणों की समस्याओं के प्रति प्रशासन गंभीर नहीं हुआ तो लोकसभा चुनाव में वोट नहीं करेंगे।

ग्राम मुंडा बैकुठ सिंह मुंडा ने कहा कि वर्ष 2002 में बनी रूगुडीह-चाटुबासा जर्जर सड़क परेशानी का सबब बन चुकी है। इस सड़क पर पैदल चलना भी मुश्किल है। वार्ड सदस्य भोंज सिंह मुडा ने कहा किरूगुडीह-चाटुबासा जर्जर सड़क से कई गांवों के ग्रामीणों का आवागमन बाधित हो रही है। इस सड़क से सुदूरवर्ती पहाड़ी क्षेत्र के सेलायजारा, डोरोदा, सीमारपानी, चिरूबेडा के ग्रामीण परेशान हैं।

जबकि सहिया सरस्वती मुंडा ने कहा कि जर्जर सड़क से सबसे अधिक परेशानी गर्भवती को उठानी पड़ रही है। रात में गर्भवती को अस्पताल ले जाने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों ने बताया कि क्षेत्र के सांसद, विधायक, उपायुक्त, आरईओ विभाग से कई बार लगभग तीन किमी चाटुबासा-रूगुडीह कालीकरण सड़क निर्माण को लेकर गुहार लगा चुके हैं। इससे नाराज रूगुडीह के 1200 मतदाता वोट नहीं करेंगे।

इस दौरान मुख्य रूप से मुखिया प्रतिमा देवी, ग्राम मुंडा बैकुंठ सिंह मुंडा, दुर्गा सिंह मुंडा, जुगल सिंह मुंडा, मौज सिंह मुंडा, रमेश हाजम, मधुसूदन मुंडा, राम कृष्णा मुंडा, ललित ठाकुर, सरस्वती मुंडा, गुरुवारी लोहार, शांति हांजाम आदि ग्रामीण उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rugidih-Chattubasa disaster of the village