DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरायकेला जेल के बंदियों का होगा कौशल विकास

सरायकेला-खरसावां के बंदी हुनरमंद होकर अपराध की दुनिया को अलविदा कहेंगे और विकास की मुख्यधारा से जुड़ेंगे। यह संभव होगा बंदियों के कौशल विकास से। जेल प्रशासन ने बंदियों को कौशल विकास का प्रशिक्षण देने की तैयारी प्रारंभ कर दी है। इसके लिए जेल अधीक्षक ने राज्य कौशल विकास के मिशन निदेशक को प्रस्ताव बनाकर भेजा है। अब वहां से हरी झंडी मिलने का इंतजार है। प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद जेल में बंद 440 बंदियों को कौशल विकास का प्रशिक्षण देने की पहल की जाएगी। जेल अधीक्षक ने प्रस्ताव में कहा है कि बंदियों को कंप्यूटर ऑपरेटर, इलेक्ट्रीशियन, ऑटो पार्ट्स और वेल्डिंग जैसे तकनीक की जानकारी दी जाएगी। बंदियों को प्रशिक्षण देकर जेल में भी स्वरोजगार के अवसर मुहैया कराये जाएंगे। जेल में जो महिला कैदी हैं, उनका कौशल विकास उनकी योग्यता के अनुरूप किया जाएगा, ताकि उनके जीवन में भी बदलाव आ सके। जेल अधीक्षक अनूप किशेार शरण ने कहा कि बंदियों के जीवन में बदलाव लाने के लिए उनका कौशल विकास करना आवश्यक है। राज्य के कौशल विकास मिशन के निदेशक को बंदियों को प्रशिक्षण देने के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है। निदेशक की स्वीकृति मिलने के बाद प्रशिक्षण दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Prisoners will develop skills