City President Opens Opposition Opposing the Executive Officer - नगर अध्यक्ष ने कार्यपालक पदाधिकारी के खिलाफ खोला मोर्चा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नगर अध्यक्ष ने कार्यपालक पदाधिकारी के खिलाफ खोला मोर्चा

नगर अध्यक्ष ने कार्यपालक पदाधिकारी के खिलाफ खोला मोर्चा

नगर पंचायत अध्यक्ष मिनाक्षी पट्टनायक व आठ वार्ड पार्षदों ने नगर के कार्यपालक पदाधिकारी राजीव रंजन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। रविवार को अपने आवास पर मीडिया संग बातचीत करते हुए अध्यक्ष ने कार्यपालक पदाधिकारी पर वित्तीय अनियमितता करने व बोर्ड मीटिंग में पारित प्रस्तावों के अनुरूप कार्य नहीं करने का आरोप लगाया।

कहा, कार्यपालक पदाधिकारी जनप्रतिनिधियों का अनादर कर जनता के बीच बदनाम करने में लगे हैं। ईओ के बगैर सूचना के लगातार 15 दिनों तक कार्यालय से गायब रहना व बोर्ड की बैठक में पारित प्रस्ताव का क्रियान्वयन नहीं करना आदतों में शुमार है। बताया गया कि नगर निकाय चुनाव के बाद चार बोर्ड की बैठक हुई, जिसमें जनहित में कई प्रस्ताव पारित किये गये, लेकिन एक भी प्रस्ताव अमल में नहीं लाया गया।

नगर में लगी समस्याओं की अंबार : अध्यक्ष ने कहा कि पदाधिकारी के ढुलमुल रवैया के कारण इन दिनों साफ-सफाई व विकास के नाम पर केवल खानापूर्ति हो रही है। नगर पंचायत के सभी वार्डों में सड़क व नालियों की स्थिति बदतर है। नागरिक सुविधा मद में आबंटित राशि को बगैर बोर्ड की बैठक या जनप्रतिनिधियों को सूचना दिये विपत्र पर भुगतान किया जा रहा है, जो नियम के विरुद्ध है।

आठ लाख की मशीन दो माह में खराब : अध्यक्ष ने कहा कि शहरी क्षेत्र में मच्छरों से निजात दिलाने के लिए दो माह पूर्व आठ लाख की लागत से फॉगिंग मशीन खरीदी गयी, पर एक या दो बार कुछ जगहों पर फॉगिंग के बाद मशीन खराब हो गयी है। मशीन बेकार पड़ी हुई है जबकि कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा आपूर्ति करने वाली कंपनी को राशि का भुगतान कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि चुनाव के ठीक पहले पांच लाख की लागत से स्ट्रीट लाइट की मरम्मत की गयी परंतु आज अधिकतर पोल पर स्ट्रीट लाइट बंद पड़ी है और रात होते शहरी क्षेत्र में अंघेरा छा जाता है।

बोर्ड ने हटाया, कार्यपालक पदाधिकारी ने नहीं किया विमुक्त : अध्यक्ष ने कहा कि नपं बोर्ड मीटिंग में कार्यालय सहायक शिवशंकर ठाकुर को दो बार हटाने का प्रस्ताव पारित किया गया, लेकिन नहीं हटाया गया। कार्यपालक पदाधिकारी बोर्ड के प्रस्ताव को दरकिनार करते हुए मनमानी तरीके से शिवशंकर ठाकुर से ही कार्य करवा रहे हैं।

कालीकरण पथ में संवेदक पर नहीं हुई कार्रवाई : अध्यक्ष ने कहा कि कालीकरण पथ में कार्य नहीं करने वाले संवेदकों पर कार्रवाई के लिए नपं बोर्ड बैठक में संवेदक को काली सूची में डालने का प्रस्ताव पारित किया गया, लेकिन कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा संवेदक पर अब तक किसी प्रकार की कारवाई नहीं की गयी।

मुख्यमंत्री को कराया जाएगा अवगतअध्यक्ष ने कहा कि मामले को लेकर जल्द ही उपायुक्त से लेकर सीएम, नगर विकास मंत्री, सचिव से मिलकर समस्याओं व कार्यपालक पदाधिकारी के हिटलरशाही रवैया को अवगत कराया जायेगा। मौके पर वार्ड पार्षद बलराम साहू, मीरा बारीक, वरुण साहू, गौतम नायक, सुजाता महांती, अंजलि राय, युगल तापे व सविता पट्ट्नायक समेत अन्य उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:City President Opens Opposition Opposing the Executive Officer