ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड साहिबगंजपरेशानी: जिला में हर साल बढ़ रहे एमडीआर टीबी मरीज

परेशानी: जिला में हर साल बढ़ रहे एमडीआर टीबी मरीज

परेशानी: जिला में हर साल बढ़ रहे एमडीआर टीबी मरीज स्वरुप कुमार साहिबगंज। कोरोनाकाल...

परेशानी: जिला में हर साल बढ़ रहे एमडीआर टीबी मरीज
हिन्दुस्तान टीम,साहिबगंजTue, 18 Jun 2024 12:30 AM
ऐप पर पढ़ें

परेशानी: जिला में हर साल बढ़ रहे एमडीआर टीबी मरीज
स्वरुप कुमार

साहिबगंज। कोरोनाकाल के बाद जिले में हर साल मल्टी ड्रग रेसिस्टेंट (एमडीआर) मरीजों की संख्या बढ़ रही है। यह मामला स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंता का विषय बना है। हालांकि विभाग का दावा है कि एमडीआर मरीजों का नि:शुल्क जांच व उपचार यहां उपलब्ध है। जिला यक्ष्मा विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 2021 से 2023 तक में 134 एमडीआर के मरीज मिले हैं। दरअसल, एमडीआर (मल्टी ड्रग रेसिस्टेंट) मरीजों के शरीर में मौजूद ट्यूबरक्लोसिस के बैक्टीरिया दवाओं के प्रति इतने रेजिस्टेंट हो जाते हैं कि इन पर दवाओं का असर बिलकुल नहीं होता है। एमडीआर टीबी का एक अन्य वजह ऐसे मरीज के संपर्क में आना भी बताया जाता है। आम भाषा में यदि कहा जाए तो टीबी का ही बिगड़ा हुआ रूप एमडीआर टीबी है। इसके बैक्टीरिया पर टीबी के सामान्य दी जाने वाली दवाएं नाकाम होने लगी है। सबसे चकित करने वाली बात है कि टीबी कुपोषित या कमजोर शरीर वाले को अपना शिकार बनाता है। लेकिन एमडीआर टीबी इससे बिलकुल अलग है । यह हर वर्ग के व्यक्ति को अपनी चपेट में ले सकता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।