DA Image
21 जनवरी, 2020|5:06|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सामाजिक सद्भाव की मिसाल तीनपहाड़ दुर्गा पूजा कमेटी

तीनपहाड़ में वर्ष 1840 से दुर्गा पूजा हो रही है। दत्ता परिवार की ओर तीनपहाड़ में दुर्गापूजा की शुरुआत हुई थी। उस समय यहां के लोहिया भवन के पास दुर्गा पूजा होती थी। कालांतर में यह पूजा स्थानीय बजरंगबली मंदिर के पास होने लगी थी। उस समय डॉ एसएन मित्रा, मो. शरीफ,जवाहर भगत, खोखा साह, परमेश्वर दत्ता, डीजे पदो सेन, दयाल यादव, वासुदेव ठाकुर के सहयोग से धूमधाम से दुर्गापूजा होती थी। काल क्रम में तीनपहाड़ रेलवे स्टेशन के पास दुर्गा मंदिर का निर्माण हुआ। वर्तमान में इसी मंदिर में दुर्गा पूजा हो रही है।दरअसल, तीनपहाड़ सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति साम्प्रदायिक सौहार्द की मिसाल है । यहां दोनों समुदाय के लोग आपस में सहयोग कर पूजा आयोजन ेकरते हंै। मौके पर भव्य मेला का भी आयोजन होता है। इस साल भव्य पूजा पंडाल बनाया जा रहा है।