DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऐहतियात के तौर पर 460 बंद समर्थक गिरफ्तार

ऐहतियात के तौर पर 460 बंद समर्थक गिरफ्तार

1 / 4भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में विपक्षी गठबंधन की ओर से गुरुवार को आहूत झारखंड बंद का यहां व्यापक असर दिखा। सुबह से ही बाजार की सारी दुकानें बंद रही। सड़क पर वाहनों का परिचालन काफी कम रहा। बाजार...

ऐहतियात के तौर पर 460 बंद समर्थक गिरफ्तार

2 / 4भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में विपक्षी गठबंधन की ओर से गुरुवार को आहूत झारखंड बंद का यहां व्यापक असर दिखा। सुबह से ही बाजार की सारी दुकानें बंद रही। सड़क पर वाहनों का परिचालन काफी कम रहा। बाजार...

ऐहतियात के तौर पर 460 बंद समर्थक गिरफ्तार

3 / 4भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में विपक्षी गठबंधन की ओर से गुरुवार को आहूत झारखंड बंद का यहां व्यापक असर दिखा। सुबह से ही बाजार की सारी दुकानें बंद रही। सड़क पर वाहनों का परिचालन काफी कम रहा। बाजार...

ऐहतियात के तौर पर 460 बंद समर्थक गिरफ्तार

4 / 4भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में विपक्षी गठबंधन की ओर से गुरुवार को आहूत झारखंड बंद का यहां व्यापक असर दिखा। सुबह से ही बाजार की सारी दुकानें बंद रही। सड़क पर वाहनों का परिचालन काफी कम रहा। बाजार...

PreviousNext

भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में विपक्षी गठबंधन की ओर से गुरुवार को आहूत झारखंड बंद का यहां व्यापक असर दिखा। सुबह से ही बाजार की सारी दुकानें बंद रही। सड़क पर वाहनों का परिचालन काफी कम रहा। बाजार में सन्नाटा पसरा रहा। हालांकि दोपहर तीन बजे के बाद बाजार की छिटपुट दुकानें खुलने लगी। इससे पहले सुबह छह बजे साहिबगंज कॉलेज के कल्याण छात्रावास के विद्यार्थियों का जत्था पूर्वी रेलवे केबिन के पास पहुंच करीब ढाई घंटे तक रेलवे ट्रैक को जाम रखा। इससे लंबी दूरी की एक ट्रेन समेत पांच ट्रेनों का परिचालन ठप हो गया। एसडीपीओ नवल शर्मा, सीओ रामनरेश सोनी, नगर थाना प्रभारी सुनील टोप्पनो, आरपीएफ इंस्पेक्टर शिशिर कुमार, जीआरपी इंस्पेक्टर पंकज कुमार, रेल थाना प्रभारी शिवशंकर प्रसाद पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच बंद समर्थकों से वार्ता की। बंद समर्थकों ने सुबह साढ़े आठ बजे रेलवे ट्रैक से जाम हटाया। उधर, बंद के दौरान बंद समर्थकों ने शहर में जगह-जगह बैरेकेटिंग कर सड़क जाम कर दिया।गिरफ्तार बंद समर्थकों को कैम्प जेल में रखा : नगर थाना पुलिस ने विपक्षी दलों के करीब 97 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर दोपहर को तीन चरण में टाउन हॉल में बने कैम्प जेल ले आई। वहां कुछ देर तक पुलिस अभिरक्षा में रखने के बाद जमानत पर सभी को छोड़ दिया गया। मौके पर कांग्रेस के कांग्रेस के नगर अध्यक्ष मो. कलीमुद्दीन, महेन्द्र पासवान, बासुकीनाथ यादव, एखलाक नदीम, मुर्शाद अली, कृष्णा शर्मा, अशोक पासवान, अजमत हुसैन, नितेश ओझा, झामुमो नेता सुरेन्द्र यादव, मनोज तांती, कपिलदेव दास, मोहसिन रजा, जफर इमाम, सफाजुद्दीन, झाविमो के केन्द्रीय सचिव राजीव चौधरी, चंदन कुमार, अनिल यादव, राजद जिलाध्यक्ष राजकिशोर यादव, माकपा के श्यामसुंदर पोद्दार, समेत दर्जनों कार्यकर्ता शामिल थे। सुरक्षा के थे पुख्ता इंतजाम : झारखंड बंद के दौरान जिला व पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया था। सुरक्षा की कमान एसडीपीओ नवल शर्मा संभाले हुए थे। जिले 25 जगहों पर 35 दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी के साथ 400 सशस्त्र व लाठी बल की तैनाती थी। इधर, एंटी राइट फोर्स, वज्र वाहन, वाटर कैनन भी तैनात किए गए थे।यात्रियों को हुई काफी परेशानी : झारखंड बंद को लेकर दूसरे शहरों से आये यात्रियों को काफी परेशानी हुई। वे ट्रेन व बस से यहां तो पहुंच गये। हालांकि घर तक जाने के लिये कोई साधन नहीं मिला। ई रिक्शा, रिक्शा, ऑटो पूरी तरह से बंद था। कक्षा स्थगित : बंदी की वजह से साहिबगंज कॉलेज की सभी क्लास स्थगित हो गई। जानकारी के अनुसार बंद समर्थकों ने वाहन, सड़क जाम कर रखा था। इससे कई विद्यार्थी व शिक्षक समय पर कॉलेज नहीं आ पाए है। इस वजह से क्लास को स्थगित करना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:460 closed as a precautionary supporter