ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड रांचीडायन प्रथा के खिलाफ महिलाओं को अधिक जागरूक होने की जरूरत : सचिव

डायन प्रथा के खिलाफ महिलाओं को अधिक जागरूक होने की जरूरत : सचिव

नालसा एवं झालसा के निर्देशन में प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह डालसा अध्यक्ष सत्य प्रकाश के मार्गदर्शन में शुक्रवार को कर्रा प्रखंड के लोधमा...

डायन प्रथा के खिलाफ महिलाओं को अधिक जागरूक होने की जरूरत : सचिव
हिन्दुस्तान टीम,रांचीFri, 08 Dec 2023 09:15 PM
ऐप पर पढ़ें

खूंटी, प्रतिनिधि। नालसा एवं झालसा के निर्देशन में प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह डालसा अध्यक्ष सत्य प्रकाश के मार्गदर्शन में शुक्रवार को कर्रा प्रखंड के लोधमा बाजार में चलंत लोक अदालत भान सह न्याय आपके द्वार वैन के द्वारा विधिक सहायता एवं कानूनी जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जहां कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डालसा सचिव मनोरंजन कुमार ने डायन प्रथा के बारे में आमजनों को विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि डायन प्रथा एक हिंसात्मक घटना है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं आए दिन घटती रहती हैं, इसलिए महिलाओं को अधिक-से-अधिक जागरूक होने की आवश्यकता है। चलंत लोक अदालत के जरिए खास तौर पर आमजनों को कानूनी अधिकार के संबंध जागरूक करना है।
उन्होंने कहा कि स्थानीय व्यवहार न्यायालय परिसर में नौ दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। इसकी तैयारी पूरी हो चुकी है। प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह डालसा अध्यक्ष सत्य प्रकाश ने लोगों से व्यवहार न्यायालय में अधिक-से-अधिक संख्या में शामिल होकर अपने-अपने वादों का निष्पादन कराने की अपील की है। इस बीच कार्यकम में अधिवक्ता कुंदन कुमार डालसा के पीएलवी अंजू कच्छप, विशाल नाग, तेलेस्फॉर संगा, मार्शल कण्डुलना, पवन कुमार एवं ग्रामीण उपस्थित थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें