DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › रांची › तिलता कांड की निष्पक्ष जांच के लिए ग्रामीण एकजुट
रांची

तिलता कांड की निष्पक्ष जांच के लिए ग्रामीण एकजुट

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 08:01 PM
तिलता कांड की निष्पक्ष जांच के लिए ग्रामीण एकजुट

रातू प्रतिनिधि

तिलता में 30 सितंबर को हुए जमीन विवाद में प्रशासन द्वारा एकतरफा कार्रवाई के विरोध में सैकड़ों लोग हटिया विधायक नवीन जायसवाल के नेतृत्व में सोमवार को थाना पहुंचे। विधायक ने रातू थाना प्रभारी आभाष कुमार को ज्ञापन सौंपकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि कुछ दलाल जमीन बेचने के लिए नापी कर रहे थे। स्थानीय ग्रामीणों ने विरोध किया और इसकी जानकारी रातू थाना को दी। थाना पुलिस ने 29 सितंबर को दोनों पक्षों को बुलाकर विवादित जमीन पर निर्माण करने से रोक दिया। इधर, 30 सितंबर को हथियार से लैस एक पक्ष विवादित स्थल पर काम कराने लगा। ग्रामीणों ने जब इसका विरोध किया तो जमीन दलालों ने ग्रामीणों और महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार किया। इसके बाद आरोपियों ने एक आदिवासी विधवा सुको उरांव पर गाड़ी चढ़ा दी। महिला को घायल देख स्थानीय ग्रामीण आरोपियों से भिड़ गए। इस मारपीट में एक युवक की मौत हो गई।

महिला घायल, कोई सहायता नहीं

गाड़ी चढ़ाने से घायल हुई सुको उरांव अस्पातल में जिंदगी के लिए संघर्ष कर रही है, उसे न कोई सरकारी मदद मिली और न चिकित्सा सुविधा। उधर, पुलिस घटना की जांच किए बगैर तीन निर्दोष ग्रामीणों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं दूसरे पक्ष पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की। इससे आदिवासी समाज में आक्रोश है, विधायक ने प्रशासन से आग्रह किया कि इस मामले की निष्पक्ष जांच की जाए।

संबंधित खबरें