DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  रांची  ›  टीकाकरण ही कोरोना पर काबू पाने का एकमात्र सुरक्षित तरीका

रांचीटीकाकरण ही कोरोना पर काबू पाने का एकमात्र सुरक्षित तरीका

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:40 AM
टीकाकरण ही कोरोना पर काबू पाने का एकमात्र सुरक्षित तरीका

रांची। संवाददाता

कोरोना महामारी पूरे विश्व के साथ हमारे देश एवं राज्य में त्राहिमाम मचा रखा है। इसके कारण अधिवक्ता न्यायिक कार्य से अपने आप को दूर रख सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। लेकिन राज्य के कुछ जिलों में वर्चुअल मोड पर सुनवाई जारी है। कोरोना ने जिले के 3300 से अधिक अधिवक्ताओं की स्थिति दयनीय कर रखी है। बावजूद अधिवक्तागण कहते है कि इससे बचाव के लिए जागरूकता, सावधानी और सामाजिक दूरी के साथ टीकाकरण ही एकमात्र उपाय है। वैक्सीन एक सुरक्षा कवच है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर कोरोना से लड़ने की ताकत देगी। वैक्सीन को लेकर कई तरह की अफवाह उड़ रही है। इसको नजरअंदाज करते हुए लोगों को इसके प्रति जागरूक करना होगा।

अधिवक्ताओं ने 18 वर्ष से अधिक के युवाओं में टीकाकरण की अपील की है। इसके लिए अधिवक्तावर्ग अपने स्तर पर सोशल मीडिया का भी उपयोग कर रहे हैं। सिविल कोर्ट के अधिवक्ता जितेन्द्र कुमार ने अपने साथियों को वैक्सीन लेने की अपील कर रहे हैं। उनका कहना है कि मैंने अपनी पत्नी के साथ वैक्सीन ली। किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं आई। आप भी लें। वकालत को सुरक्षित करें।

वहीं अधिवक्ता चन्द्रकांत सिंह का कहना है कि हमें सबसे पहले एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में टीका लेना चाहिए। साथ ही अपने सहयोगी और अन्य लोगों को भी टीकाकरण के लिए प्रेरित करना चाहिए। जब न्यायालय फीजिकल रूप से काम करना शुरू करेगा तो हम अधिवक्ता, मुवक्किलों और कई अन्य लोगों के संपर्क में आने वाले क्षेत्रों में काम कर रहे होंगे जो हमारे साथ-साथ हमारे संपर्क में रहने वाले लोगों के लिए भी खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए हमें टीकाकरण अभियान का समर्थन करना चाहिए तभी इस कहर पर काबू पाया जा सकता है।

दोनों डोज के बाद ही वकील, वकालत और परिवार सुरक्षित

1. कोरोना से सुरक्षा के लिए वैक्सीनेशन जरूरी है। वैक्सीन लगाने में देरी से कोरोना के प्रकोप से लंबे समय तक जूझना पड़ सकता है। कोरोना की गाइड लाइन का अनुपालन जरूर करें। वैक्सीनेशन के बाद ही वकील और वकालत सुरक्षित रहेगा। संक्रामक रोग की रोकथाम के लिए टीकाकरण बहुत जरुरी है और मैं चाहूँगा की सभी आधिवक्ता अपने परिवार के साथ टीकाकरण जरूर करवाएं।

- संजय कुमार विद्रोही, सदस्य, जेएसबीसी

2. अधिवक्ता बन्धुओं को सरकारी दिशा- निर्देशों का पालन करते हुए, शीघ्र से शीघ्र वैक्सीन लगा लेनी चाहिए। अन्य अधिवक्ताओं में वैक्सीन से सम्बंधित जागरूकता फैलानी चाहिये, वकीलों के संगठन को सरकार के साथ मिल कर अधिवक्ताओ को वैक्सीन लगाने की व्यवस्था करनी चाहिए। इसमें आने वाली कठिनाई को सरकार के द्वारा दूर करने का प्रयास करना चाहिए। वैक्सीन लेने के बाद ही मुवक्किल से पहले की तरह मिलजुल पाएंगे।

-सत्येंद्र प्रसाद सिंह सत्या, अधिवक्ता, रांची

3. राज्य में अवस्थित 38 बार भवनों में काफी तेजी से टीकाकरण को बढ़ावा देते हुए सभी वकीलों, मुंशियों और कोर्ट से जुड़े स्टाफ, टाइपिस्ट, दुकानदारों एवं अन्य को यथाशीध्र वैक्सीन दिलवाई जाए। तभी कोरोना को यहां से भगा सकेंगे।

-दीपेश निराला, प्रदेश अध्यक्ष, ऑल इंडिया लॉयर्स फोरम

4. आज के परिदृश्य में कोरोना से पूरा विश्व त्राहिमाम कर रहा है। ऐसे समय में वैकल्पिक मानव सुरक्षा के लिए देश मे वैक्सीनेशन करवाया जा रहा है। जो काफ़ी हद तक कोरोना से बचाव कर सकता है। हम अधिवक्ताओं की भी इस कोरोना काल में स्थिति दयनीय हो चुकी है, पर हिम्मत से डटे हुए हैं। सभी अधिवक्ता एवं उनके परिवार को सिविल कोर्ट परिसर में वैक्सीनेशन करवाने की व्यवस्था हो।

- धर्मेन्द्र नायक, अधिवक्ता, सिविल कोर्ट रांची

5. मेरा यह विचार है की सभी अधिवक्तागण को जल्द से जल्द वैक्सीन लगवा लेनी चाहिए। साथ ही साथ समाज को भी वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूक करना चाहिए क्योंकि इसी से महामारी पर लगाम लग सकती है। कोर्ट परिसर में भी अधिवक्ताओं और उनके परिवार के लिए वैक्सीनेशन की व्यवस्था करनी चाहिए।... कल्याण देवघरिया, अधिवक्ता।

6. वर्तमान समय में कोरोना को परास्त करने के लिए टीकाकरण समय की मांग है। अन्य लोगों के साथ अधिवक्तावर्ग टीका लगवाएं। जिला बार के पदाधिकारियों को अतिशीध्र सिविल कोर्ट परिसर में अधिवक्ता और उनके परिवार के लिए टीकाकरण की व्यवस्था करनी चाहिए। साथ ही आर्थिक रूप से सहयोग कर एसोसिएशन का सदस्य होने का अहसास कराएं।

- प्रशांत कुमार, अधिवक्ता।

7. इस महामारी में हम अधिवक्ताओं को बहुत ही विकट परिस्थिति से गुजरना पड़ रहा है। हमनें बहुत से अधिवक्ता बन्धुओं को खो दिया। इस महामारी से उबरने के लिए हम सभी अधिवक्तओं को सरकार के निर्देश के अनुसार वैक्सीन लेनी चाहिए। जिसके लिए सभी बार में कैंप लगाया जाए। मनचाहा वैक्सीन सेंटर चुनने की छूट हो ताकि जो जहां है उनको वैक्सीन लग जाए।

- लक्ष्मी नायक, अधिवक्ता।

8. हम सभी अधिवक्ताओं को वैक्सीन लगानी चाहिए, क्योकि इस महामारी से सभी को बचाने का फिलहाल यही विकल्प है। मैंने स्वयं वैक्सीन लगवा ली है और मैं स्वस्थ हूँ। कुछ असामाजिक लोग वैक्सीन के प्रति दुष्प्रचार कर रहे हैं जो सही नही है।

- पप्पू कुमार, अधिवक्ता।

संबंधित खबरें