Urge reconsideration of distribution of nutrition made in factory - फैक्ट्री में बने पोषाहार के वितरण पर पुनर्विचार का आग्रह DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैक्ट्री में बने पोषाहार के वितरण पर पुनर्विचार का आग्रह

सामाजिक संस्थाओं ने केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी को पत्र लिखकर आंगनवाड़ी केन्द्रों में बच्चों, गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को फैक्ट्री में बने पोषाहार देने के फैसले पर चिंता जाहिर की है। साथ ही इस व्यवस्था से ठेकेदारों और आपूर्तिकर्ताओं की मनमानी बढ़ने की आशंका जाहिर की है। रांची की अंकिता अग्रवाल ने बताया कि बच्चों के शारीरिक विकास के लिए पर्याप्त पौष्टिक खाद्य पदार्थों की जरूरत होती है। बच्चों और महिलाओं को पोषक तत्वों के साथ-साथ पर्याप्त कैलोरी भी मिलनी चाहिए। फैक्ट्री में बने पोषाहारों में पौष्टिक तत्वों की कमी के कारण बच्चों और महिलाओं को नुकसान उठाना पड़ सकता है। अग्रवाल ने कहा कि झारखंड सहित देशभर की सामाजिक संस्थाओं ने केन्द्रीय मंत्री से फैसले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Urge reconsideration of distribution of nutrition made in factory