ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड रांचीखूंटी में हड़ताल पर रहे ट्रक व बस चालक, नहीं चलीं बसें व ट्रक

खूंटी में हड़ताल पर रहे ट्रक व बस चालक, नहीं चलीं बसें व ट्रक

केंद्र सरकार द्वारा लाए जा रहे हिट एंड रन कानून के विरोध में वाहन चालक संघ की हड़ताल दूसरे दिन भी जारी रही। रांची-चाईबासा व रांची-सिमडेगा पथों पर...

खूंटी में हड़ताल पर रहे ट्रक व बस चालक, नहीं चलीं बसें व ट्रक
हिन्दुस्तान टीम,रांचीTue, 02 Jan 2024 07:45 PM
ऐप पर पढ़ें

खूंटी, संवाददाता। केंद्र सरकार द्वारा लाए जा रहे हिट एंड रन कानून के विरोध में वाहन चालक संघ की हड़ताल दूसरे दिन भी जारी रही। रांची-चाईबासा व रांची-सिमडेगा पथों पर चार-चार बसें ही चलीं। बस ऑनर एसोसिएशन के खूंटी जिला उपाध्यक्ष अरुण कुमार साबू ने बताया कि बुधवार से एक भी बसें नहीं चलेंगी। खूंटी के बस स्टैंडों पर सन्नाटा पसरा रहा और यात्री परेशान नजर आए। जो बसें चलीं उन बसों में ठूस-ठूस कर पैसेंजर भरे थे। यात्री बसें बंद होने से कई यात्रियों को परेशान होना पड़ा। खूंटी चैंबर ऑफ कॉमर्स के सचिव मुकेश जायसवाल ने कहा कि सरकार को हिट एण्ड हंट कानून पर पुर्नविचार करना चाहिए। वहीं सह-सचिव ज्योति सिंह ने कहा कि हड़ताल के ज्यादा चलने से आपूर्ति बाधित होगी। ऐसी दशा में मांग और आपूर्ति के बीच में बढ़ने वाले गैप के चलते सीधा असर जनता पर पड़ सकता है। व्यापारियों की भी परेशानी बढ़ जाएगी। खूंटी जिले में चालकों की हड़ताल का बड़ा असर पड़ना शुरू हो गया है।

कालामाटी में ट्रक चालक हड़ताल कर धरना पर बैठे:

खूंटी-रांची की सीमा पर स्थित कालामाटी में ट्रक, हाईवा और अन्य वाहन चालक हड़ताल पर हैं। सबने बुधवार को कालामाटी में अपने-अपने वाहनों को मैदान में खड़ा कर हिट एंड रन कानून के विरोध में धरना दिया। चालक सुनील खालखो ने कहा कि हम ट्रक चालक हाड़तोड़ मेहनत कर ट्रक चलाने के बाद सिर्फ इतना कमा पाते हैं, जिससे परिवार का किसी तरह भरण-पोषण हो पाता है। इतने पैसे नहीं होते हम अपने बच्चों को किसी अच्छे प्राईवेट स्कूल में पढ़ा सकें। इस कारण हमारे बच्चे सरकारी स्कूलों में ही पढ़ते हैं। ऐसे में यह कानून चालकों के परिवार को मिटाने करने वाला कानून है। कारण कि दस साल की सजा के बाद परिवार हाशिये पर आ जाएगा।

क्या है हिट एण्ड रन कानून:

केंद्र सरकार ने हाल ही में संसद में नया हिट एंड रन विधेयक पास किया है। अब यह भारतीय न्याय संहिता के तहत नया कानून बन चुका है। हिट एंड रन केस में अगर चालक एक्सीडेंट के बाद फरार हो जाता है और हादसे में किसी की मौत हो जाती है तो ड्राइवर को दस साल की कैद की सजा का प्रावधान है। सजा के साथ जुर्माना भी भरने का प्रावधान है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
अगला लेख पढ़ें