DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  रांची  ›  बाबा रामदेव के विरोध में आज राज्यभर के 20 हजार डॉक्टर काला बिल्ला लगाकर करेंगे काम

रांचीबाबा रामदेव के विरोध में आज राज्यभर के 20 हजार डॉक्टर काला बिल्ला लगाकर करेंगे काम

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:10 AM
बाबा रामदेव के विरोध में आज राज्यभर के 20 हजार डॉक्टर काला बिल्ला लगाकर करेंगे काम

रांची। संवाददाता

बाबा रामदेव के विरोध में राज्य भर के 20 हजार डॉक्टर मंगलवार को काला बिल्ला लगाकर अपना काम करेंगे। बाबा रामदेव के बयान के बाद पूरे देश भर में एलोपैथ के डॉक्टर इनका विरोध कर रहे हैं। आईएमए रांची के सचिव डॉ सुधीर कुमार ने कहा कि हमें आयुर्वेदिक पद्धति से विरोध नहीं है। हमारा विरोध स्वामी रामदेव के दिए गए बयान को लेकर है। आईएमए के साथ रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन और रिम्स के जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन का भी साथ मिला है। डॉ सुधीर ने कहा कि बाबा रामदेव ने सार्वजनिक मंच पर बयान दिया है इसलिये माफी भी सार्वजनिक रूप से मांगनी चाहिये। उन्होंने एलोपैथी को लेकर जो बयान दिया है वो विवादस्पद है। इस महामारी की घड़ी में हमारे चिकित्सक समाज ने लोगों की सेवा करते हुए अपनी शहादत दी है। इस परिस्थिति में हमारे योगदान को कैसे नकारा जा सकता है।

रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन भी करेगा विरोध

आईएमए के संयुक्त सचिव डॉ अजीत कुमार ने कहा कि फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन भी बाबा रामदेव के विरोध में काला बिल्ला लगाकर काम करेगा। उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव को योग को बढ़ाने में ध्यान देना चाहिए। एलोपैथी के बारे में उनका बयान चिकित्सकों को आहत करता है। डॉ अजीत ने कहा कि मैं बाबा के बयान की निंदा करता हूं। स्वामी रामदेव को ऐसे बयान से बचना चाहिए।

बल्कि बाबा रामदेव के बयान को लेकर है लड़ाई: जेडीए

जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ विकास कुमार ने कहां की लड़ाई एलोपैथ और आयुर्वेद के बीच नहीं है बल्कि बाबा रामदेव के बयान के विरोध में है। उन्होंने कहा कि जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन भी मंगलवार को काला बिल्ला लगाकर विरोध दर्ज कराएगा। उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव के बयान के कारण एलोपैथ वैक्सीनेशन सहित कई चीजों में भ्रम की स्थिति पैदा हो गई है। बाबा रामदेव को अपने बयान को लेकर सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एलोपैथी के डॉक्टर ने कोरोना की इस घड़ी में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

संबंधित खबरें