Three PLFI militants arrested arms and bike recovered - पीएलएफआई के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और बाइक बरामद DA Image
14 दिसंबर, 2019|8:08|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएलएफआई के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और बाइक बरामद

default image

कोलेबिरा पुलिस ने हथियार समेत पीएलएफआई के तीन उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है। उनमें एक आरोपी अनूप टोपनो भाजपा नेता मनोज नगेशिया की हत्या में शामिल बताया जाता है। इसी वर्ष 16 जून को वह बाल सुधार गृह से फरार हो गया था।

गुरुवार शाम एसपी संजीव कुमार ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि पीएलएफआई के कुछ उग्रवादी कोलेबिरा के सकोरला जंगल में ठहरे हैं। इस आधार पर थाना प्रभारी रविशंकर के नेतृत्व में टीम गठित कर बुधवार देर रात छापेमारी की गई। बारिश के बावजूद पुलिस ने जंगल में छापेमारी कर अनूप टोपनो, रंजीत कंडुलना और आमूस कंडुलना को हथियार सहित गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया कि अनूप टोपनो की मेडिकल जांच कराई गई है। वह बालिग हो चुका है। दोनों उग्रवादियों के साथ उसे भी जेल भेज दिया गया है। मौके पर एसपी अभियान निर्मल गोप, एसडीपीओ राजकिशोर उपसिथत थे।

दो मोटरसाइकिल और नौ एमएम की पिस्टल बरामद:

गिरफ्तार उग्रवादियों के पास से पुलिस ने नौ एमएम की एक पिस्टल, एक लोडेड कट्टा, सेवन एमएम के चार कारतूस, 315 बोर के पांच कारतूस, दो मोटरसाइकिल और तीन मोबाइल फोन बरामद किया है। एसपी ने बताया कि नौ एमएम की पिस्टल शातिर उग्रवादी अनूप के पास से बरामद की गई।

जेल से फरार होने के बाद सीधे पीएलएफआई कमांडर के पास गया था अनूप

कोलेबिरा पुलिस ने हथियार समेत पीएलएफआई के जिन तीन उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है। उनमें से एक अनूप टोपनो अपराध की दुनिया में अपना नाम कमाना चाहता था।

एसपी संजीव कुमार ने बताया कि इसी साल जून माह में बाल सुधार गृह से फरार होने के बाद उग्रवादी अनूप सीधे पीएलएफआई के कमांडर सचित के दस्ते में गया था। सचित ने अनूप को अपने दस्ते में शामिल करते हुए हथियार उपलब्ध कराया था। एसपी ने बताया कि अनूप ने अपने साथियों के साथ मिलकर जिले के एक बड़े आदमी की हत्या करने की साजिश रची। उन्होंने बताया कि पुलिस की सक्रियता के कारण अनूप साजिश में कामयाब नहीं हुआ और पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

एसपी ने बताया कि भाजपा नेता मनोज नगेशिया की हत्या में विजय डांग का नाम सुर्खियो में आने से अनूप टोपनो चिढ़ा हुआ था। एसपी के अनुसार अनूप अपराध की दुनिया में अपना नाम जमाना चाहता था। इसी उद्देश्य से वह बाल सुधार गृह से फरार होकर पीएलएफआई में शामिल हुआ। एसपी के अनुसार पिछले दिनों बानो के कनारोवा रेलवे स्टेशन में रेलवे कर्मी के साथ मारपीट की घटना में भी अनूप शामिल था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three PLFI militants arrested arms and bike recovered