ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड रांचीबिना फर्श, खिड़की दरवाजे वाले भवन में चलता है स्कूल

बिना फर्श, खिड़की दरवाजे वाले भवन में चलता है स्कूल

ना फर्श, ना दरवाजे-खिड़की, दीवारों पर प्लास्टर तक नहीं, कमरे के अंदर धूल उड़ते हैं। इन्हीं कमरों के अंदर बैठकर आदिवासी बहुल अड़की प्रखंड के कटुई गांव...

बिना फर्श, खिड़की दरवाजे वाले भवन में चलता है स्कूल
हिन्दुस्तान टीम,रांचीTue, 27 Feb 2024 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

खूंटी, संवाददाता। ना फर्श, ना दरवाजे-खिड़की, दीवारों पर प्लास्टर तक नहीं, कमरे के अंदर धूल उड़ते हैं। इन्हीं कमरों के अंदर बैठकर आदिवासी बहुल अड़की प्रखंड के कटुई गांव के छोटे-छोटे बच्चे पढ़ते करते हैं। यह हाल है राजकीय उत्क्रमित मध्य विद्यालय, कटुई, अड़की का। यही नहीं इस विद्यालय का एक और भवन है, जिसमें दो कमरे हैं। दोनों कमरे जर्जर हो चुके हैं और छत से टूट-टूटकर प्लास्टर गिरते रहते हैं। सावधानी के दृष्टिकोण से स्कूल के मास्टर साहब समय-समय पर छत के प्लास्टरों को डंडे से झाड़ते रहते हैं। इस विद्यालय के आसपास तीन चापानल और एक सोलर जलमीनार भी है, लेकिन सब के सब बेकार पड़े हुए हैं। शौचालय की दशा भी खराब है।
अड़की के मदहातू पंचायत के गांव कटुई में ही मुखिया जी का घर भी है। मुखिया लक्ष्मण टूटी बताते हैं कि कटुई स्कूल भवन को चुनाव के समय बूथ बनाया जाता है। लेकिन स्कूल भवन की स्थिति जर्जर है। अद्धनिर्मित स्कूल के मामले में केस दर्ज हो चुका है। लेकिन शौचालय व पेयजल की व्यवस्था वे स्वयं के प्रयास से कर रहे हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें