ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड रांचीपत्नी के वियोग में पति ने भी जीवन लीला समाप्त कर ली

पत्नी के वियोग में पति ने भी जीवन लीला समाप्त कर ली

पत्नी के वियोग में मंगलवार को पति ने भी फंदे पर झूलकर जीवन लीला समाप्त कर ली। पंडरा ओपी क्षेत्र के पूर्वी फ्रेन्डस कॉलोनी में रहने वाले सत्यप्रकाश...

पत्नी के वियोग में पति ने भी जीवन लीला समाप्त कर ली
हिन्दुस्तान टीम,रांचीWed, 22 May 2024 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

रांची। वरीय संवाददाता
पत्नी के वियोग में मंगलवार को पति ने भी फंदे पर झूलकर जीवन लीला समाप्त कर ली। पंडरा ओपी क्षेत्र के पूर्वी फ्रेन्डस कॉलोनी में रहने वाले सत्यप्रकाश अग्रवाल ने दिन के दस बजे स्वयं को कमरे में बंद कर लिया। इसके बाद पंखा के सहारे फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली। दिवंगत सत्यप्रकाश की पत्नी करुणा अग्रवाल ने भी इसी मकान के एक कमरे में पिछले 18 मई की रात में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। मामले की जानकारी पति सत्यप्रकाश एवं परिजनों को 19 मई को सुबह में हुई थी, जब करुणा काफी देर तक कमरे से बाहर नहीं निकली थी। शंका निवारण के लिए पति समेत पड़ोसियों ने जब रोशनदान से अंदर झांका तो करुणा का शव फंदे से झूलता पाया था। इसके बाद सत्यप्रकाश के आवास पर कोहराम मच गया था। इस मामले में पुलिस ने करुणा के मायके वालों को उस समय घटना की सूचना दी थी। मायका वालों के रांची पहुंचने के बाद पंडरा ओपी में सत्यप्रकाश के विरूद्ध लिखित शिकायत नहीं की गई थी। पुलिस ने घटना की जानकारी मिलने के बाद पंडरा फ्रेन्डस कॉलोनी में आवास पर पहुंच कर शव को अपने कब्जे में किया एवं रिम्स में पोस्टमार्टम कराया। इसके बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया। अभी सत्यप्रकाश के आवास पर करुणा अग्रवाल के श्राद्ध कर्म को लेकर कई जगहों से परिजन पहुंचे हुए हैं। सभी घटना से हतप्रभ हैं। दंपत्ति द्वारा अलग-अलग दिन आत्महत्या करने को लेकर कॉलोनी में रहने वाले लोगों के बीच दबी जुबान से तरह-तरह की चर्चा चल रही थी। इधर चार दिन के अंदर दंपत्ति द्वारा जान देने की घटना की पुलिस गहराई से छानबीन कर रही है। पंडरा ओपी के थानेदार राधेश्याम उपाध्याय ने बताया कि अब इस परिवार में 12 साल की सत्यप्रकाश की एक बेटी है। उनके अन्य परिजन भी हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।