ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड रांचीजीवन से जुड़े हैं प्रेमचंद की कहानियों के पात्र : जयंती

जीवन से जुड़े हैं प्रेमचंद की कहानियों के पात्र : जयंती

उर्सलाइन कान्वेंट स्कूल खलारी में शुक्रवार को मुंशी प्रेमचंद का जयन्ती समारोह मनाया गया।  प्राचार्या सिस्टर जयन्ती ने अपने संबोधन में उनकी प्रसिद्ध...

जीवन से जुड़े हैं प्रेमचंद की कहानियों के पात्र : जयंती
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,रांचीSat, 06 Aug 2022 02:00 AM
ऐप पर पढ़ें

खलारी, संवाददाता। उर्सलाइन कान्वेंट स्कूल खलारी में शुक्रवार को मुंशी प्रेमचंद का जयन्ती समारोह मनाया गया।  प्राचार्या सिस्टर जयन्ती ने अपने संबोधन में उनकी प्रसिद्ध कहानी दौलत का अंधा पढ़कर सुनाया और वर्तमान समय से जोड़कर उनकी व्याख्या की। उन्होंने प्रेमचंद द्वारा रचित कहानियों और उपन्यासों के विभिन्न पात्रों के बारे में बताया और कहा कि आज के समय में ये सभी पात्र हमारे जीवन से जुड़े हुए लगते हैं। इससे पूर्व हिन्दी विभाग की अध्यक्ष अनिमा कांसीर के मार्गदर्शन में हिंदी शिक्षिका दीपिका टोप्पो, अंजना मिंज और विभिन्न कक्षाओं के विद्यार्थियों के सहयोग से सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।

कार्यक्रम का उद्घाटन प्राचार्या सिस्टर जयन्ती, सुपीरियर सिस्टर लूसिया और उप प्राचार्या सिस्टर नेली द्वारा  मुंशी प्रेमचंद के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया। कार्यक्रम के दौरान छात्राओं ने सत्यम शिवम सुंदरम गीत पर आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किया।

दो बैलों की कथा का हुआ मंचन:

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण प्रेमचंद द्वारा रचित प्रसिद्ध कहानी दो बैलों की कथा का मंचन था। विद्यार्थियों ने इस कहानी को मंच पर प्रस्तुत कर उन्हें श्रद्धांजलि दी तथा अपनी अभिनय कला का परिचय दिया। बच्चों कहानी के पात्र झुरी, गया और हीरा मोती का जीवंत चित्रण किया।  कार्यक्रम में शिक्षक शशि चौधरी और विशाल शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। इस कार्यक्रम में विद्यालय के सभी विद्यार्थियों के अलावा सभी शिक्षक -शिक्षिकाएं उपस्थित थे।

epaper