DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रांची रेलवे स्टेशन पर पानी के लिए त्राहिमाम

रांची रेलवे स्टेशन पर पानी के लिए त्राहिमाम

रांची स्टेशन पर बुधवार को पानी के लिए त्राहिमाम मच रहा। यहां दिन भर यात्रियों को पीने के लिए बूंद भर पानी नसीब नहीं हुआ। दिन भर विभिन्न ट्रेनों से आनेवाले हजारों यात्री यहां हाथ में खाली बोतल लिए पानी का तलाश करते नजर आए। प्लेटफार्म के नलों से लेकर वाटर वेंडिंग मशीन तक में पानी नहीं है। सभी नल सूखे हैं। यात्रियों के हलक सूख रहे हैं। यहां के प्रतीक्षालय और शौचालय तक में पानी नहीं है। महिला और पुरूष प्रतीक्षालयों से बदबू आ रही हैं। स्टेशन और शौचालयों की साफ-सफाई ठप है। दर्जन भर ट्रेनों में पानी की सप्लाई नहीं हो सकी। स्टेशन में सामाजिक संगठनों के प्याऊ में भी पानी नहीं हैं। तरसते यात्रियों की सुध लेनेवाला कोई नहीं है। उमस भरी गर्मी के बीच ट्रेनों के इंतजार में यात्रियों के लिए यह असुविधा रांची स्टेशन में आफत साबित हो रही है।

स्टेशन की साफ-सफाई का काम रुका

पानी की कमी से स्टेशन की साफ-सफाई व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। स्टेशन की साफ-सफाई के लिए यहां आऊटसोर्सिंग के कर्मचारी पानी का इंतजार करते रहे। सफाईकर्मी सुखंती ने कहा कि पानी के बगैर सफाई नहीं हो सकती। वह एसी वेटिंग हॉल से आधे-आधे बाल्टी पानी लाकर किसी तरह से साफ-सफाई का काम कर रही है।

मूरी, बोकारो, हटिया में ट्रेनों को दे रहे पानी

दर्जन भर ट्रेन में भी पानी की सप्लाई बाधित हो रही है। यहां से महत्वपूर्ण ट्रेनें शताब्दी एक्सप्रेस, जनशताब्दी एक्सप्रेस, जम्मूतवी एक्सप्रेस, वैद्यनाथधाम इंटरसिटी, धनबाद इंटरसिटी, हावड़ा इंटरसिटी, बांकुड़ा पैसेंजर, एलेप्पी एक्सप्रेस, दरभंगा सिकंदराबाद और अन्य ट्रेनों को रांची में पानी नहीं मिला। इन ट्रेनों के लिए हटिया, राउरकेला, मुरी, बोकारो आदि स्टेशनों में पानी की सप्लाई की जा रही है।

मेन पाईप में हो रहा मरम्मत का काम

यात्रियों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया है। रेल अधिकारी राज्य सरकार के पीएचईडी विभाग से पानी सप्लाई का इंतजार कर रहे हैं। उनके मुताबिक पांच दिनों से बूटी मोड़ स्थित मेन पाईप लाइन को दुरूस्त किया जा रहा है। इसके कारण रेलवे को पानी नहीं मिल रहा।

डोरमैटरी और रिटायरिंग रूम बंद किया

यहां तक की स्टेशन टर्मिनल के पहले फ्लोर पर बने डोरमैटरी और रिटायरिंग रूम का भी बुरा हाल रहा। पानी नहीं रहने के कारण अगले दो दिनों के लिए यहां का बुकिंग बंद कर दी गई है। यहां पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है। इससे दूर-दराज से आनेवाले यात्रियों की परेशानी और बढ़ गई है।

यात्रियों ने बतायी पीड़ा

ओपी पंडित- राजधानी का स्टेशन ऐसा बदहाल होगा, सोचा भी नहीं था। पानी के लिए भटक रहा हूं। कहीं पानी नहीं है।

अभिषेक राय- वैद्यनाथधाम इंटरसिटी से बोकारो जाना है। यहां किसी भी नल में पानी नहीं है। रेलवे की व्यवस्था बदहाल है।

शैलेन्द्र स्वाइन-डोरमैटरी लेने गया था। पानी की सप्लाई नहीं है। अब सेकेन्ड क्लास वेटिंग में आ गया हूं। यहां बदबू आ रही है।

मनोज कुमार गुप्ता-छत्तीसगढ़ से आ रहा हूं। रात में रांची दुमका से जाना है। स्टेशन में कहीं भी पानी नहीं मिल रहा।

सफाई कर्मी

हेमलता- स्टेशन की साफ-सफाई के लिए पानी नहीं है। हमलोंग पानी के इंतजार में सुबह से बैठे हुए हैं।

अनिता देवी- गर्मी होने के कारण प्यास लग रहे हैं। स्टेशन में पानी नहीं है। हमलोग बाहर से पेयजल लाकर पी रहे हैं।

वाटर वेंडिंग मशीन संचालक

उदय कुमार-पानी आपूर्ति होने के बाद ही वाटर वेंडिंग मशीन से पानी उपलब्ध होगा। पानी आपूर्ति नहीं होने से यह ठप है।

कोट-

स्टेशन में राज्य की पेयजल विभाग की पानी आपूर्ति व्यवस्था ठप हो गई है। रेलवे की ओर से लगातार पानी सप्लाई को लेकर पेयजल आपूर्ति अभियांताओं से बातचीत हो रही है। आंधी पानी के दौरान ठनका गिरने से पानी आपूर्ति व्यवस्था बाधित हुई है। यहां फिलहाल दो नलकूपों से पानी की व्यवस्था की जा रही है। लेकिन वह नाकाफी है। यहां हर दिन तीन लाख गैलन पानी की जरूरत है।

अवनीश कुमार, सीनियर डीसीएम, रेल मंडल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tehran for water at Ranchi railway station