DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › रांची › रात में बिजली की शिकायत के निपटारे के लिए तैनात होगी टीम
रांची

रात में बिजली की शिकायत के निपटारे के लिए तैनात होगी टीम

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Sat, 05 Jun 2021 08:40 PM
रात में बिजली की शिकायत के निपटारे के लिए तैनात होगी टीम

बैठक :::::::::::::::::::::::::::::::::

रांची व आसपास में निर्बाध बिजली आपूर्ति को लेकर बिजली अभियंताओं की आपातकालीन बैठक

सभी 33 केवी और 11 केवी लाइन की निमयित पेट्रोलिंग सुनिश्चित करने का दिया गया निर्देश

रांची। संवाददाता

रांची समेत आसपास के इलाकों में निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए शनिवार को विभिन्न डिविजन के कार्यपालक विद्युत अभियंताओं व एमएस केआई एजेंसी के प्रतिनिधियों के साथ बैठक हुई। अध्यक्षता कुसई स्थिति बिजली कार्यालय में महाप्रबंधक पीके श्रीवास्वत ने की। इस दौरान निर्णय हुआ कि रात में शिकायतों के निपटारे के लिए आकस्मिक गैंग प्रत्येक सब स्टेशन में रखा जाए, ताकि किसी भी स्थिति में बिजली समस्या उत्पन्न न हो।

विगत दिनों आंधी-पानी में ट्रिपिंग की समस्या में बढ़ोतरी हुई, इसलिए इस पर रोक लगाना जरूरी है। साथ ही निर्धारित अवधि सुबह 11 बजे से 11:15 बजे और रात 10 बजे से 10:15 बजे तक ही शटडाउन फ्यूज बनाने के लिए लिया जाएगा। निर्देश दिया गया कि सभी 33 केवी और 11 केवी लाइन की निमयित पेट्रोलिंग सुनिश्चित करें। कहीं भी ओवर हेड तार पेड़ों की डाल के संपर्क में आ रहे हैं तो अतिशीघ्र उसकी छंटाई योजनाबद्ध तरीके से की जाए। जानकारी दी गई कि मई माह में विभिन्न क्षमता वाले 135 ट्रांसफार्मरों को बदला गया है। हालांकि आंधी-पानी और थंडरिंग के कारण ट्रांसफार्मर जलने में बढ़ोतरी हुई है, परंतु निरंतर विभागीय स्तर पर क्षतिग्रस्त ट्रांसफार्मरों को बदला जा रहा है।

छह माह से बिल नहीं देने वालों को दें नोटिस

बैठक में राजस्व वसूली में तेजी लाने पर चर्चा हुई। निर्देश दिया गया कि वैसे उपभोक्ताओं को चिह्नित किया जाए, जिन्होंने छह माह से बिजली बिल का भुगतान नहीं किया है। ऐसे लोगों को नोटिस देते हुए उनके घरों की बिजली काट दी जाए। बिलिंग एजेंसी को निर्देश मिला कि बिलिंग का कार्य शुरू करवाया जाए, ताकि लोगों को समय से बिल मिल सके।

अंडरग्राउंड केबल को माह के अंतिम तक चालू करने का आदेश

बैठक में अंडरग्राउंड केबलिंग कार्य की समीक्षा भी की गई। जानकारी दी गई कि 33 केवी हटिया-अरगोड़ा लाइन को 10 किलोमीटर तक अंडरग्राउंड केबल में तब्दील कर दिया गया है। इसके अलावा 33 केवी हटिया-हरमू लाइन को 11 किलोमीटर तक भूमिगत कर दिया है। कार्य पूरा हुए सभी भूमिगत केबल को 30 जून तक चालू करने की भी बात कही गई। इसके अलावा 33 केवी हटिया-पुंदाग लाइन पांच किलोमीटर और 33 केवी हटिया-आइटीआई लाइन की 13 किलोमीटर तक पूरा होने की बात कही गई, जिसे 31 जुलाई तक चालू करने का निर्देश दिया गया।

संबंधित खबरें