DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › रांची › टीएसी की बैठक आज, कई प्रस्ताव पर लगेगी मुहर
रांची

टीएसी की बैठक आज, कई प्रस्ताव पर लगेगी मुहर

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Sun, 26 Sep 2021 09:40 PM
टीएसी की बैठक आज, कई प्रस्ताव पर लगेगी मुहर

रांची। हिन्दुस्तान ब्यूरो

झारखंड ट्राइब्स एडवाइजरी काउंसिल की बैठक मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में सोमवार को होगी। बैठक में कई प्रस्तावों पर मंजूरी दिए जाने की संभावना है। इसमें जाति प्रमाण पत्र बनाने में आदिवासियों को हो रही दिक्कत को देखते हुए जीवन में एक बार ही जाति प्रमाण पत्र बनाने की मंजूरी मिल सकती है। आदिवासियों को सरकारी बैंकों से ऋण लेने में भी दिक्कत होती है। किसान क्रेडिट कार्ड समेत अन्य दिक्कतें होने पर सरकार को यह व्यवस्था करनी चाहिए कि बैंक ऋण देने से मना ना करें। आदिवासियों की जमीन के अवैध हस्तांतरण पर रोक लगनी चाहिए पश्चिम बंगाल से सटे सीमावर्ती जिलों पाकुड़, साहिबगंज में गैर आदिवासियों द्वारा आदिवासियों की जमीन पर अवैध कब्जा से रोक लगनी चाहिए। इसके अलावा जनजातीय भाषा के संरक्षण के लिए जनजातीय भाषा अकादमी का गठन, कॉलेज, विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति और पहली से बारहवीं तक क्षेत्रीय जनजातीय भाषा के शिक्षकों के पद सृजन किये जाने का भी प्रस्ताव है। इसके अलावा झारखंड के वीर शहीदों और आंदोलन के नेतृत्व कर्ताओं के बारे में भी राज्य की भावी पीढ़ी को बताने की जरूरत है। शिक्षा विभाग और कला संस्कृति विभाग मिलकर योजना तैयार कर सकता है।

सरना धर्म कोड को मान्यता दिए बिना अगर केंद्र सरकार जनगणना करवाने पर पड़ती है तो आगामी जनगणना कार्यक्रम में राज्य सरकार को केंद्र सरकार के साथ सहयोग की नीति अपनानी चाहिए। विभिन्न औद्योगिक संस्थानों द्वारा आदिवासियों की जमीन अधिग्रहण और उसके विस्थापन पर जांच की आवश्यकता है। इसमें पुनर्स्थापन नीति बनाने और पुनर्स्थापना आयोग का गठन का प्रस्ताव है। साथ ही व्यापार को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने, आदिवासी महिलाओं व लड़कियों के शोषण पर कठोर कार्रवाई करने, आदिवासी भाषा संस्कृति ज्ञान को विकसित करने और संरक्षित करने के लिए ट्राइबल यूनिवर्सिटी के गठन, अनुसूचित जाति के युवकों को उद्योग शुरू करने के लिए प्रोत्साहन योजना बनाने का भी प्रस्ताव है।

संबंधित खबरें