DA Image
10 अगस्त, 2020|8:10|IST

अगली स्टोरी

रक्षा बंधन से संबंधित विशेष खबर...

default image

हर बहन को ऐसे ही भाई मिले। प्रेम सुखीजा मेरे सिर्फ भाई ही नहीं हैं, वे मेरे और परिवार के लिए ईश्वर की सौगात हैं। मेरी यही कामना होगी कि हर जन्म में मुझे भाई के रूप में वही मिले। बरियातू रोड के रामेश्वरम में अपने भाई के घर पर रह रहीं बबीता स्वयं को खुशनसीब मानती हैं। उनके भाई प्रेम सुखीजा उनका विशेष ख्याल रखते हैं। वहीं भाई प्रेम सुखीजा ने भी छोटी सी उम्र से ही अभिभावक की भूमिका निभाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। खुद और परिवार को व्यवस्थित करने के साथ ही अपनी बहनों की सभी जरूरत को पूरा करते हुए जिम्मेवारी का निर्वहन करते रहे हैं। उन्होंने अपने खर्च से बहनों की शादी की। इसके बाद बहन की दो संतान का पालन पोषण के साथ पढ़ाई पूरी करायी। बड़ी बहन बबिता उन्हीं के साथ रहती हैं। उनकी की बेटी सुमन का धनबाद में विजय विजन और बरखा का विवाह रातू रोड के केएन कॉलोनी में व्यवसायी परिवार नितेश बरेजा से करायी। और उनकी भी शादी कर गृहस्थी बसायी। सभी के लिए जरूरत के सामान उपलब्ध कराने का क्रम वह अभी भी जारी रखे हुए हैं। सुखीजा परिवार के योगदान से सभी प्रसन्न हैं और अपने मामा के सहयोग के लिए दुआएं देते नहीं थकती हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Special news related to Raksha Bandhan