DA Image
1 मार्च, 2021|3:59|IST

अगली स्टोरी

एसडीओ के पास लंबित प्रमाणपत्र दस दिनों में निपटेंगे

प्रतियोगी परीक्षाओं और नौकरी के लिए सदर अनुमंडल पदाधिकारी के पास आय, स्थानीय और जाति प्रमाणपत्र के लंबित आवेदनों का दस दिनों के अंदर निपटारा कर दिया जाएगा। एसडीओ के पास से सिर्फ इन्हीं कार्य के लिए प्रमाणपत्र के आवेदन देने चाहिए। लेकिन आम तौर पर लोग छात्रवृत्ति और दूसरे काम के लिए प्रमाणपत्र बनाने के लिए भी आवेदन देते हैं। जबकि छात्रवृत्ति और अन्य काम के लिए सीओ के पास आवेदन देने का प्रावधान किया गया है। इस काम के लिए सीओ की ओर से जारी प्रमाणपत्र वैध माने जाते हैं। लेकिन लोग इसका पालन नहीं करते और एसडीओ और उपायुक्त के पास आवेदन देते हैं। इस कारण भी प्रमाणपत्रों के निर्माण में विलंब होता है। शुक्रवार को जिला 20 सूत्री की बैठक में जन प्रतिनिधियों ने प्रमाणपत्र नहीं बनने का मामला उठाया था और अधिकारियों के प्रति नाराजगी जाहिर की थी। इसके बाद जिला प्रशासन ने एसडीओ स्तर पर लंबित आवेदनों का निष्पादन दस दिनों में करने का निर्णय लिया है। प्रशासन के अनुसार लोगों का आरोप है कि एसडीओ के पास एक से दो माह तक आवेदन लंबित रहते हैं। लेकिन यह सही नहीं है। एसडीओ कार्यालय में जो भी आवेदन आ रहे हैं उनका समय पर निष्पादन किया जा रहा है। प्रमाणपत्रों में विलंब एसडीओ से नीचे स्तर पर हो रहा है। हालांकि लोगों को सही जानकारी नहीं रहने के कारण भी ऐसा हो रहा है। एसडीओ कार्यालय के पास जो आवेदन लंबित हैं उसका निपटारा तेजी से किया जाएगा। छात्रवृत्ति के लिए सीओ के पास दें आवेदन प्रशासन ने पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए अंचलाधिकारी के नाम से आवेदन देने का निर्देश दिया है। अधिकांश आवेदन उपायुक्त और अनुमंडल पदाधिकारी के नाम से ही दिया जा रहा है। इससे काफी परेशानी हो रही है। रांची के एसडीओ एके सत्यजीत ने सभी प्रज्ञा केंद्र के संचालकों को इस पर गौर करने और आवेदकों को इसकी जानकारी देने को कहा है ताकि आवेदक सीओ के नाम से आवेदन दें। प्रज्ञा केंद्र संचालकों को नोटिस बोर्ड में स्पष्ट तरीके से इसका उल्लेख करने को कहा गया है। आदिवासी कल्याण आयुक्त ने इस संबंध में आवेदन आमंत्रित किया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:SDO will handle pending certificate in ten days