DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरना को अलग धर्म का दर्जा दे सरकार : बाबूलाल

सरना को अलग धर्म का दर्जा दे सरकार : बाबूलाल

झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने सरना को अलग धर्म का दर्जा देने की मांग राज्य सरकार से की है। कर्नाटक में लिंगायत समुदाय को अलग धर्म का दर्जा दिए जाने का स्वागत करते हुए उन्होंने राज्य सरकार से इसी तर्ज पर कैबिनेट से सरना को अलग धर्म का दर्जा देने का प्रस्ताव पारित कर केन्द्र को भेजने का आग्रह किया है। कर्नाटक मंत्रिमंडल ने लिंगायत को अलग धर्म का दर्जा देने का प्रस्ताव पारित कर स्वीकृति के लिए केन्द्र सरकार को भेजा है। मरांडी ने इसके लिए कर्नाटक सरकार को बधाई दी है। मरांडी ने कहा है कि कनार्टक में लिंगायत समुदाय की जनसंख्या 17 प्रतिशत है, जो वर्षों से धार्मिक अल्पसंख्यक की मान्यता देने के लिए संघर्ष कर रहे थे। उनकी मांग पर सरकार ने हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त जज की अध्यक्षता में सात सदस्यीय कमेटी बनायी थी, जिसने इसी माह अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपी थी। इस रिपोर्ट के आधार पर वहां की सरकार ने लिंगायत को अलग धार्मिक पहचान देने का निर्णय लिया है। मरांडी ने कहा है कि झारखंड में सरना धर्म को मानने वाले लोग भी वर्षों से अलग धर्म की मान्यता देने की मांग करते आ रहे हैं। ये समय-समय पर राज्य सरकार और केन्द्र सरकार तक अपनी आवाज पहुंचाते रहे हैं। इसे ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार को इस पर गंभीरता से विचार करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sarna's status as a separate religion : Babulal