ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड रांचीरातू में धूमधाम से निकली सरहुल शोभायात्रा

रातू में धूमधाम से निकली सरहुल शोभायात्रा

सरहुल की शोभायात्रा रातू और आसपास के क्षेत्रों में शुक्रवार को धूमधाम से निकाली गई। रातू बड़काटोली के अखड़ा में पाहन द्वारा पारंपरिक तरीके से...

रातू में धूमधाम से निकली सरहुल शोभायात्रा
हिन्दुस्तान टीम,रांचीSat, 25 Mar 2023 03:40 AM
ऐप पर पढ़ें

रातू, प्रतिनिधि। सरहुल की शोभायात्रा रातू और आसपास के क्षेत्रों में शुक्रवार को धूमधाम से निकाली गई। रातू बड़काटोली के अखड़ा में पाहन द्वारा पारंपरिक तरीके से पूजा-अर्चना करायी गयी। इसके साथ शोभायात्रा की शुरुआत हुई।

शोभायात्रा बड़काटोली स्थित अखड़ा से निकलकर रातू चट्टी होते हुए एसबीएल स्थित सरना स्थल पहुंची, जहां पाहन ने पूजा करायी। यहां से सरहुल शोभायात्रा रातू बड़ा तालाब होते हुए सरना टोंगरी पहुंची, जहां मुख्य पाहनों ने पूजा करायी। वहां रखे शुद्ध घड़े को देखकर भविष्यवाणी की गई कि इस वर्ष अच्छी बारिश होगी। यहां पर पूजा के बाद चना-गुड़ और प्रसाद का वितरण किया गया। इसके बाद यहां से हजारों की संख्या में कई टोलियों में नृत्य करते सरहुल शोभायात्रा आगे बढ़ी। शोभायात्रा का कांटीटांड चौक पर सरहुल पूजा समिति के संस्थापक आदित्य तिर्की द्वारा स्वागत किया गया। काठीटांड़ चौक पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डीजीपी राजकुमार लकड़ा और विश्वंभर भगत थे। उन्होंने लोगों से मिलजुल कर त्योहार मनाने की बात कही। यहां पर कई समितियों द्वारा शोभायात्रा में शामिल लोगों का स्वागत कर पानी, चना व गुड़ दिया गया। यहां से शोभायात्रा प्रखंड मुख्यालय होते हुए झखराटांड स्थित सरना स्थल पहुंची, जहां पारंपरिक तरीके से पूजा के बाद शोभायात्रा का समापन किया गया। शोभायात्रा में सरहुल पूजा समिति के अध्यक्ष अमर उरांव, राजकुमारी माधुरी मंजरी देवी, विधायक नवीन जायसवाल, पूर्व डिप्टी मेयर अजय नाथ शाहदेव, तुलसी उरांव, हुसे उरांव, राजेश उरांव, नारायण उरांव, संगम उरांव, चारे भगत, चंदर उरांव, पूर्व प्रमुख सीमा देवी, मुखिया ज्योति देवी, निर्मला भगत, अरविंद पांडेय, पृथ्वीनाथ शाहदेव सहित अन्य शामिल हैं।

प्रशासन सतर्क : शांति व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन सतर्क दिखा। डीएसपी प्रवीण सिंह, थाना प्रभारी सपन महथा पूरी टीम के साथ गश्ती करते दिखे। दंडाधिकारी भी सरहुल को लेकर शोभायात्रा में नजर बनाए हुए थे।

झांकियों ने मनमोहा : सरहुल शोभायात्रा में तिलता की ओर से झांकी निकाली गई, जो काफी आकर्षक होने के साथ ही लोगों को बरबस अपनी ओर आकर्षित कर रही थी। दोनों झांकी में प्रकृति प्रेम का संदेश था।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।