ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड रांचीसभी पोलिंग पार्टी को पूर्ण प्रशिक्षित करने का दायित्व मास्टर ट्रेनरों का: परियोजना निदेशक

सभी पोलिंग पार्टी को पूर्ण प्रशिक्षित करने का दायित्व मास्टर ट्रेनरों का: परियोजना निदेशक

लोक सभा चुनाव के मद्येनजर गठित प्रशिक्षण कोषांग द्वारा विधान सभा स्तरीय मास्टर ट्रेनरों हेतु मंगलवार को प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इस दौरान मास्टर...

सभी पोलिंग पार्टी को पूर्ण प्रशिक्षित करने का दायित्व मास्टर ट्रेनरों का: परियोजना निदेशक
हिन्दुस्तान टीम,रांचीWed, 03 Apr 2024 01:45 AM
ऐप पर पढ़ें

खूंटी, प्रतिनिधि। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर गठित प्रशिक्षण कोषांग द्वारा विधानसभा स्तरीय मास्टर ट्रेनरों हेतु मंगलवार को प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इस दौरान मास्टर ट्रेनरों के निपुणता की परख ली गई। साथ ही मतदानकर्मियों द्वारा मतदान से पूर्व, मतदान के दिन और मतदान समाप्ति के बाद समस्त कार्य निष्पादन की प्रक्रियाओं से अवगत कराया गया।
कार्यक्रम के दौरान प्रशिक्षण कोषांग के वरीय पदाधिकारी सह परियोजना निदेशक, आईटीडीए आलोक शिकारी कच्छप ने कहा कि स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने में विधान सभा स्तरीय मास्टर ट्रेनरों की भूमिका अहम होती है। सभी अपने प्रशिक्षण कार्य में पारंगत होकर अन्य मतदान कर्मियों को कार्य निष्पादन में निपुण बनाएं। उन्होंने कहा कि लोक सभा निर्वाचन के कार्यों को सफलता के साथ निष्पादित करने हेतु सभी पोलिंग पार्टी को पूर्ण प्रशिक्षित करने का दायित्व मास्टर ट्रेनरों का है। वहीं कोषांग के प्रभारी वरीय पदाधिकारी सह जिला भू-अर्जन पदाधिकारी मो परवेज ने प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनरों को सीयू, बीयू एवं वीवीपैट के संयोजन एवं कार्यप्रणाली की जानकारी दी। उन्होंने मतदान के दिन उपयोग किये जाने वाले विभिन्न प्रपत्रों के संधारण, पैकेटिंग आदि के संबंध में विस्तार से बताया। डिस्पैच सेंटर से लेकर मतदान समाप्ति के बाद कलेक्शन सेंटर तक पोलिंग पार्टी द्वारा सभी कार्यों के निष्पादन के तरीका से अवगत कराया।

एएलएमटी सह तोरपा के प्रखंड विकास पदाधिकारी कुमुद कुमार झा ने रोचक एवं सरल तरीके से मास्टर ट्रेनरों को डिस्पैच सेंटर से मतदान आरंभ करने की प्रक्रिया और समाप्ति के बाद कलेक्शन सेंटर तक पोलिंग पार्टी द्वारा कार्य निष्पादन के संबंध में बिंदुवार विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आदर्श आचार संहिता के दायरा में रहकर सभी को अपने कार्यों का निष्पादन करना होगा। उन्होंने मॉक पोल की आवश्यकता और प्रक्रिया की जानकारी देते हुए वास्तविक मतदान आरंभ होने से पूर्व की जाने वाली प्रक्रिया से अवगत कराया। पी1, पी2 एवं पी3 के कार्य और जबावदेही की विस्तार से जानकारी दी गई। इसके साथ ही चैलेंज वोट, टेंडर वोट, टेस्ट वोट एवं प्रॉक्सी वोट के संबंध विस्तार से बताया। कहा कि निष्पक्ष, स्वच्छ एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन कार्य संपन्न कराने में भूमिका सबसे महत्वपूर्ण होती है। ईवीएम कोषांग की शोभा रानी ने पीपीटी के माध्यम से सीयू, बीयू और वीवीपैट के संयोजन एवं कार्य प्रणाली के विस्तृत जानकारी दी। साथ ही डिस्पैच सेंटर से बुथ के लिए प्रस्थान करने से पूर्व मतदानकर्मियों के कार्य एवं दायित्व की जानकारी दी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें