DA Image
2 अगस्त, 2020|10:24|IST

अगली स्टोरी

राखी- चेहरे पर मास्क लगाकर भाईयों को राखी बांधेंगी बहनें

राखी- चेहरे पर मास्क लगाकर भाईयों को राखी बांधेंगी बहनें

1 / 2पैकेटबंद रसगुल्ला-गुलाबजामुन और सूखे मेवे से ही त्यौहार की मनेगी खुशियां

राखी- चेहरे पर मास्क लगाकर भाईयों को राखी बांधेंगी बहनें

2 / 2पैकेटबंद रसगुल्ला-गुलाबजामुन और सूखे मेवे से ही त्यौहार की मनेगी खुशियां

PreviousNext

कोरोना वायरस के संक्रमण के भय से तीज-त्योहार के रंग फीके हो गए हैं। इसका असर राजधानी में सोमवार को होने वाले रक्षा बंधन पर भी दिखेगा। भाई-बहन के पवित्र रिश्ते के इस त्योहार में इस बार वैसा उल्लास कहीं नहीं दिखायी पड़ रहा है। पहले त्योहार को लेकर 15 दिन पूर्व से घर से लेकर बाहर तक चहल-पहल बनी रहती थी। राखी की खरीदारी से लेकर मिठाई लेने में भी बहनें असमंजस में हैं। रांची में जिन बहनों के ससुराल और मायका दोनों हैं, वह भाइयों से खुद उनकी ससुराल आकर राखी बंधवाने की बात कर रही हैं। ऐसी बहनों का कहना है कि कोरोना को लेकर उन्हें बाहर जाने से परहेज करने को कहा जा रहा है। जिन बहनों ने अपने मायके जाकर भाइयों को राखी बांधने की तैयारी की है, उनसे कहा जा रहा है कि सुरक्षित तरीके से आना है। आसपास के इलाके में ब्याहीं बहनें भी इस उधेड़बुन में हैं कि आवागमन का साधन नहीं होने से वह अपने भाइयों के घर कैसे पहुंचे। वही घरों पर भाई बहनों के आगमन पर सेनेटाइजर से हाथ साफ कराने, चेहरे पर मास्क लगाने और ऐसी ही स्थिति में रक्षा बंधन कराने की तैयारी में हैं। कई परिवार से बहनों का बता दिया गया है कि इस बार बाजार से मिठाई लेकर नहीं आना है। मिठाई के विकल्प के तौर पर या तो लोग घर पर ही गुलाब जामुन और रसगुल्ला तैयार कर रहे हैं या फिर पैकेटबंद सोनपापड़ी और रसगुल्ले बाजार से मंगाए गए हैं। कई परिवार में पैकेटबंद सूखे मेवे से ही रक्षा बंधन की खुशियां बांटने की तैयारी की गयी है। इस बार बहनों ने बुझे मन से घर पर ही हाथों में मेहंदी रचायी। पहले बहनें शहर के विभिन्न इलाके में मेहंदी रचाने वालों के पास जाती थीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rakhi - Sisters will tie Rakhi to brothers by putting a mask on their faces