DA Image
27 जनवरी, 2021|6:50|IST

अगली स्टोरी

मौका-बेमौका दिखावे के लिए होती है अवैध शराब के खिलाफ छापेमारी

default image

रांची। वरीय संवाददाता

रांची में पुलिस दिखावे के लिए मौका-बेमौका अवैध शराब बनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करती है। हकीकत ये है कि इस तरह की कार्रवाई में न तो अभियुक्त गिरफ्तार किए जाते हैं और न ही अवैध शराब की चुलायी के धंधे पर कोई असर पड़ा है।

हाल के दिनों में एयरपोर्ट थाने की पुलिस की ओर से की गई कार्रवाई से साफ झलकता है कि अवैध शराब माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई महज खानापूर्ति है। एयरपोर्ट पुलिस के आंकड़े बताते हैं कि फरवरी से दिसंबर माह के बीच हेतू और उसके आसपास की बस्तियों में एक दर्जन से अधिक बार अवैध शराब बनाने वालों के अड्डों पर छापेमारी की। इस दौरान पुलिस की टीम ने एक भी व्यक्ति को गिफ्तार नहीं किया। यहां तक कि पुलिस शराब के अड्डे के मालिक का भी पता नहीं लगा पायी। ऐसे माफियाओं के खिलाफ पुलिस ने केस तक दर्ज नहीं किया। पुलिस की इस कार्रवाई से अवैध शराब माफियाओं का हौसला बुलंद है। वे दिन की बजाय रात में अवैध शराब बनाते हैं।

डीजीपी ने कार्रवाई का दिया था निर्देश

डीजीपी एमवी राव ने रांची के सभी थानेदारों को यह निर्देश दिया था कि अवैध शराब बनाने वालों के खिलाफ विशेष अभियान चलाएं। शराब माफियाओं को गिरफ्तार कर जेल भेजें। ऐसा नहीं करने पर संबंधित इलाके के थानेदारों पर कार्रवाई की जाएगी।

छापेमारी की खबर हो जाती है लिक

पुलिस की छापेमारी की खबर शराब माफियाओं को पहले ही मिल जाती है। सूत्र बताते हैं कि पुलिस की टीम ही छापेमारी की जानकारी माफियाओं को दे देते हैं। इसलिए माफिया अड्डा छोड़कर फरार हो जाते हैं। इसी कारण छापेमारी टीम जब पहुंचती है तो सिर्फ देसी शराब व बनानेवाली सामग्री ही पुलिस को मिलती है।

2020 में पुलिस की कार्रवाई

10 जून को एयरपोर्ट पुलिस ने हेतू के मुक्तिधाम के समीप छापेमारी कर सौ लीटर महुआ शराब के अलावा जावा को नष्ट किया। लेकिन शराब बनाने वाले को पुलिस नहीं पकड़ पायी।

15 सितंबर को भी पुलिस ने हराटांड़ के बंसवाड़ी में छापेमारी कर एक हजार लीटर अवैध देसी शराब के अलावा जावा को नष्ट किया। छापेमारी के दौरान पुलिस यह जानकारी हासिल नहीं कर सकी कि अवैध शराब की भट्टी किसकी है।

10 अक्तूबर को एयरपोर्ट पुलिस ने हराटांड़ में तीन हजार लीटर अवैध देसी शराब के अलावा भारी मात्रा में जावा को नष्ट किया। इस छापेमारी में भी पुलिस ने शराब बनाने वालों के खिलाफ कोई केस नहीं किया।

25 नवंबर को एयरपोर्ट थाने की पुलिस ने हराटांड़ नदी किनारे 300 लीटर अवैध देसी शराब जब्त की। जावा को नष्ट भी किया। लेकिन पुलिस शराब बनाने वाले को गिरफ्तार नहीं कर सकी।

29 दिसंबर को एयरपोर्ट पुलिस ने हेतू बस्ती से दो किलोमीटर की दूरी पर नदी किनारे अवैध शराब की भट्टी में छापेमारी की। डेढ़ सौ लीटर देसी महुआ व 22 किलो जावा को पुलिस ने नष्ट किया। लेकिन भट्टी किसकी है, यह पुलिस को जानकारी नहीं मिल सकी।

कोट :::::::::::::::::::::

अवैध शराब माफियाओं के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। विभिन्न थानों में शराब माफियाओं पर केस भी दर्ज किया गया है। जहां तक एयरपोर्ट पुलिस की बात है तो इसकी जानकारी थानेदार से ली जाएगी। सौरभ, सिटी एसपी रांची

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Raid against illicit liquor is done to show off chance