DA Image
31 मार्च, 2020|6:19|IST

अगली स्टोरी

गरीबी से तंग किसान ने चलती ट्रेन के आगे कूदकर जान दी

default image

बानो थाना क्षेत्र के कनरवा रेलवे स्टेशन के समीप गरीबी से तंग किसान ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। रेलवे पुलिस ने बानो और कनरवा रेलवे स्टेशन के बीच से शव देखा तो बानो थाने को सूचना दी। इसके बाद एएसआई अवनीश कुमार और शैलेंद्र पासवान घटनास्थल पहुंचे और शव को कब्जे में ले लिया।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार पुलिस को शव के पास मृतक का आधार कार्ड और एक सुसाइड नोट भी पड़ा मिला। सुसाइड नोट एक प्रिंटेड कागज पर लिखा गया था। पुलिस ने सुसाइड नोट जब्त कर लिया है। आधार कार्ड के माध्यम से मृतक की पहचान गुमला जिले के बसिया स्थित इटाम गांव निवासी दिग्विजय कुमार के रूप में हुई है। बानो थाना प्रभारी प्रभात कुमार ने बताया कि मृतक के परिजनों को सूचना दे दी गई है। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। उन्होंने सुसाइड नोट के बारे में कुछ भी बताने से इनकार कर दिया और कहा कि जांच के बाद ही मौत के कारणों की स्पष्ट जानकारी मिल पाएगी।

क्या है सुसाइड नोट में

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार रेल पटरी पर दिग्विजय कुमार के शव के पास पड़े सुसाइड नोट में टूटी-फूटी भाषा में मृतक ने लिखा था कि मैं एक किसान हूं और आर्थिक तंगी से तंग आकर आत्महत्या कर रहा हूं। हालांकि सुसाइड नोट में लिखी बातों की पुलिस ने पुष्टि नहीं की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Poverty-stricken farmer killed himself by jumping in front of a moving train