DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  रांची  ›  थानेदार व पुलिस पर मारने का शक, सीआईडी करेगी जांच

रांचीथानेदार व पुलिस पर मारने का शक, सीआईडी करेगी जांच

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Sat, 08 May 2021 03:02 AM
थानेदार व पुलिस पर मारने का शक, सीआईडी करेगी जांच

रांची। मुख्य संवाददाता

गुमला के घाघरा पुलिस की हिरासत में कृष्णा उरांव की मौत की सीआईडी जांच होगी। 27 मार्च को घाघरा के बालमित्र थाना के कक्ष में कृष्णा उरांव का शव फंदे से लटका मिला था। घटना के बाद परिजनों ने पुलिस पर मारपीट व प्रताड़ित कर हत्या करने का आरोप लगाया था। घटना के बाद घाघरा के तत्कालीन थानेदार कुंदन कुमार को एसपी हृदीप पी जनार्दनन ने निलंबित कर दिया था। राज्य पुलिस मुख्यालय ने मामले में सीआईडी से निष्पक्ष जांच के आदेश दिए थे, जिसके बाद सीआईडी ने केस को टेकओवर कर लिया है।

क्या है मामला

गुमला के घाघरा के घाघरापाठ में 21 अप्रैल को पांच वर्षीय अनुज उरांव की हत्या कर शव को तालाब के किनारे फेंक दिया गया था। अनुज की हत्या के बाद शव को पत्थर से ढक दिया गया था। घटना के बाद अनुज की मां के बयान पर तीन लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई थी। पुलिस ने तीनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, इसके बाद छोड़ दिया। वहीं 27 अप्रैल को अनुज के पिता कृष्णा को हिरासत में लिया गया। पुलिस ने बाल मित्र थाने के कार्यालय में कृष्णा से पूछताछ की, इसके बाद उसे बाहर से बंद कर अधिकारी चले गए। लौटने के बाद उसी शाम अधिकारियों ने पाया कि कृष्णा ने खिड़की के सहारे अपने गमछी से फांसी लगा दी है। घटना के बाद परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाए थे। वहीं 28 अप्रैल को थानेदार को एसपी ने निलंबित कर दिया था।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को दी गई है जानकारी

पुलिस हिरासत में कृष्णा उरांव की मौत की जानकारी गुमला पुलिस व मुख्यालय ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को दी है। वहीं इस मामले में प्रारंभिक रिपोर्ट भी आयोग को दी गई है।

संबंधित खबरें