One percent pavement in the city itself - शहर में एक फीसदी सड़क पर ही फुटपाथ DA Image
12 दिसंबर, 2019|8:59|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर में एक फीसदी सड़क पर ही फुटपाथ

default image

राज्य सरकार की सहयोगी संस्था आईटीडीपी की ओर से समेकित शहरी विकास और सुरक्षित सार्वजनिक परिवहन प्रणाली पर बुधवार को प्रेस क्लब में कार्यशाला का आयोजन किया गया। उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए संस्था के झारखंड हेड राजेन्द्र वर्मा ने कहा कि रांची में सड़क जाम और यातायात को व्यवस्थित करने के लिए सरकार को सख्त कदम उठाने की जरुरत है। सड़क पर पहला अधिकार पैदल चलने वालों का होता है, लेकिन यहां की सड़के जब भी डिजायन की जाती है तो वाहन को ध्यान में रखकर डिजायन की जाती है।

चेन्नई के पौंडी बाजार से सबक लेने की जरूरत

कार्यशाला में राज्य सरकार को चेन्नई का मॉडल बताया गया है। चेन्नई के पौंडी बाजार के 1.7 किमी की सड़क में कैरेज वे को कम करके टू लेन कर दिया गया। टू लेन में रोड के दोनों ओर 10-10 मीटर चौड़ा फुटपाथ बना दिया गया है। इसका बड़ा फायदा यह हुआ कि दुकानदारों की बिक्री बढ़ गई और महिलाएं-बुजुर्ग स्वयं को सुरक्षित महसूस करने लगे। इसे देखते हुए सरकार ने चेन्रई में और 10 जोन इसी तर्क पर विकसित करने का निर्देश दिया है। आईटीडीपी के एक्सपर्ट फराज अहमद ने कहा कि किसी भी सड़क को कुछ गाड़ियों के लिए नहीं बनाया जा सकता। सड़क का डिजायन ऐसा होना चाहिए कि उसका इस्तेमाल सभी लोग सामान रूप में करे।

महज एक फीसदी सड़क पर ही फुटपाथ की सुविधा

कार्यशाला में आईटीडीपी की ओर से एक डॉक्युमेंट्री दिखाई गई। जिसमें बताया गया कि रांची की आबादी 14 लाख के करीब है। इसमें 44 फीसदी लोग पैदल चलते हैं या साइकिल का इस्तेमाल करते हैं। रांची में कुल 560 किलोमीटर सड़क का नेटवर्क है। इसमें महज एक फीसदी सड़क पर ही फुटपाथ है।

शहर में 23 रूट में 800 बस चलाने की जरुरत

राजेन्द्र वर्मा ने कहा कि रांची में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को विकसित करने का प्लान तैयार करके सरकार को दिया गया है। इस पर काम चल रहा है। शहर के 23 रूट को चिन्हित किया गया है, जहां सर्कल के अनुसार सिटी बसे चलेगी। इसके लिए करीब 800 सिटी बस चलाने की जरुरत है। पहले फेज में 200 से 250 सिटी बसें चलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:One percent pavement in the city itself