DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सली सब जोनल कमांडर सुशीला को पांच साल की सजा

नक्सली सब जोनल कमांडर सुशीला को पांच साल की सजा

भाकपा माओवादी दक्षिणी छोटानागपुर की सब जोनल कमांडर सुशीला उर्फ अंजू उर्फ कलावती उर्फ कलई मुंडा को अदालत ने पांच साल की सजा सुनाई है। अपर न्यायायुक्त एसएन मिश्रा की अदालत ने गुरुवार को सुनवाई करते हुए महिला नक्सली को आमर्स एक्ट 25(1ए)-26 के तहत दोषी करार देते हुए सजा सुनाई है। अदालत ने नक्सली पर 15 हजार रुपए जुर्माना लगाया गया है। दोषी नक्सली कुंदन पाहन दस्ते में थी। इस मामले में पिठोरिया के थाना प्रभारी शिव गोप ने 2011 को प्राथमिकी दर्ज करायी थी। मामले में अभियोजन की ओर से छह और बचाव पक्ष ने एक गवाह की गवाही दर्ज करायी।

महिला नक्सली के पास से मिला था नाइन एमएम का पिस्टल

बताया गया कि पिठोरिया के डुहू टोली में राजेश पाहन नामक व्यक्ति के घर पर भाकपा माओवादी कुंदन पाहन के दस्ते का रतन मुंडा 15 जुलाई की रात अपनी बहन सुशीला को उसके घर पर छोड़ गया था। कहा था कि इलाज करना है 16 जुलाई को वह आएगा। पिठोरिया पुलिस को इसकी सूचना मिली। पुलिस ने एक टीम का गठन किया। 15 जुलाई की रात दो बजे राजेश के घर पर पुलिस ने छापामारी की। इस दौरान पूछताछ में राजेश ने पुलिस को महिला के बारे में जानकारी दी। इसी क्रम में पुलिस ने राजेश और सुशीला की तलाशी ली। सुशीला के पास एक प्लास्टिक में नाइन एमएम का पिस्टल, चार जिंदा कारतूस और एक पर्चा मिला। पर्चा में सरकार विरोधी बातें लिखी गई थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Naxalite sub-zonal commander Sushila gets five-year sentence