ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड रांचीखूंटी में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने चलाया नशीले पदार्थो के खिलाफ जागरुकता अभियान

खूंटी में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने चलाया नशीले पदार्थो के खिलाफ जागरुकता अभियान

अफीम के गहराए जड़ को उखाड़ने की दिशा में जिला प्रशासन, जिला पुलिस के बाद एनसीबी (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) ने खूंटी में अपना अभियान शुरू कर दिया...

खूंटी में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने चलाया नशीले पदार्थो के खिलाफ जागरुकता अभियान
हिन्दुस्तान टीम,रांचीMon, 24 Jun 2024 01:30 AM
ऐप पर पढ़ें

खूंटी, प्रतिनिधि। अफीम के गहराए जड़ को उखाड़ने की दिशा में जिला प्रशासन, जिला पुलिस के बाद एनसीबी (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) ने खूंटी में अपना अभियान शुरू कर दिया है। इसकी शुरुआत जागरुकता के माध्यम से किया जा रहा है। रविवार को एनसीबी की एक बाइक रैली जमशेदपुर के जुबली पार्क से प्रारंभ होकर रांची होते हुए खूंटी स्थित सीआरपीएफ 94 बटालियन के कैंप में पहुंची। रैली अंतरराष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस के अवसर पर निकाली गई और खूंटी स्थित सीआरपीएफ कैंप में जागरुकता कार्यक्रम आयोजित की गई। बता दें कि यह कार्यक्रम प्रत्येक वर्ष 26 जून को मनाया जाता है। कार्यक्रम के माध्यम से आम जनमानस के बीच एक संदेश दिया गया कि मादक पदार्थों का सेवन ना करें। नशा के विरुद्ध जागरुकता अभियान एनसीबी, रांची जोन के बैनर तले रॉयल किंग्स मोटरसाइकिल क्लब एवं रांची राइडर्स के संयुक्त तत्वावधान में किया गया।

बाइक रैली में मुख्य रूप में एनसीबी के सहायक निदेशक राणा प्रताप यादव, अधीक्षक एस शरिक उमर शामिल हुए। रैली में शामिल लोगों का खूंटी में 94 बटालियन सीआरपीएफ कमांडेट विनोद कुमार ने स्वागत किया। इस दौरान कमांडेट विनोद कुमार ने नशा के विरुद्ध एनसीबी, अन्य पदाधिकारियों, सीआरपीएफ जवानों एवं सभी बाइक राइडर को शपथ दिलाई। इससे पूर्व नेताजी चौक खूंटी के पास अधिवक्ता केदार गौंझू की अगुवाई में स्कूली बच्चों ने बाइक रैली में शामिल लोगों को गुलाब फूल देकर स्वागत किया। इस सफल समारोह में एनसीबी के पदाधिकारी के अलावा 94 बटालियन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल में अधिकारी एवं पदाधिकारी मौजूद थे।

एनसीबी के सहायक निदेशक राणा प्रताप यादव ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आम लोग भी नशा के विरूद्ध जागरुकता फैलाएं। उन्होंने ने कहा कि आज हमारे समाज में खास कर किशोर-किशोरी के अलावा आज के युवा पीढ़ी अफीम, ड्रग्स, हिरोइन, चरस, गंजा आदि जैसी नशीले मादक पदार्थो के सेवन करने के कारण विभिन्न गंभीर बीमारियों से ग्रसित हो रहे हैं। नशीले पदार्थों के सेवन करने से हमारा समाज खोखला होते जा रहा हैं। एनसीबी के अधिकारियों ने इन नशीली पदार्थों के सेवन से होने वाले कई दुष्प्रभाव के बारे में कई अहम जानकारियां दीं।

सीआरपीएफ 94 बटालियन कंमाडेट विनोद कुमार ने संबोधित करते हुए कहा कि खूंटी क्षेत्र में अफीम, ड्रग्स आदि का अवैध व्यापार चल रहा हैं। इसे लोग रोजगार के रूप में अपना रहे हैं। उन्होंने कहा कि समाज में नशीली पदार्थो के विरुद्ध जागरुकता अभियान में शामिल लोगों का स्वागत करने के साथ उनके इस अभियान की प्रशंसा की।

मादक पदार्थ के सेवन से स्वास्थ्य को पहुंचता है हानि:

जागरुकता अभियान के दौरान बताया गया कि मादक पदार्थों के सेवन का सबसे बड़ा प्रभाव स्वास्थ्य पर पड़ता है। इससे आपके शरीर के कई अंगों पर एक साथ विपरीत असर पड़ता है। खास तौर से यह आपके दिमाग को भी अपनी चपेट में ले लेता है। नशा करने वाला व्यक्ति हमेशा चिढ़ा हुआ और मानसिक तनाव से ग्रसित होता है। नशा करने वाला व्यक्ति सदैव अपने ख्यालों में ही रहता है, उसे अपने आसपास के माहौल से ज्यादा मतलब नहीं होता है।

ड्रग्स का सेवन इंसान को बना देता है अंदर से खोखला व बीमार:

नशा करने वाला व्यक्ति मानसिक एवं शारीरिक्त सभी से कमजोर होता है। ड्रग्स का सेवन आपको अंदर से खोखला और बीमार बना सकता हैं। यह ना केवल आपको शारीरिक रूप से बीमार बनाता हैं, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य को भी नुकसान पहुंचाता हैं। ड्रग्स के ओवरडोज से व्यक्ति की मौत भी हो सकती हैं। जानिए कि कैसे सभी प्रकार के ड्रग्स आपके नर्वस सिस्टम को प्रभावित करते हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन ड्रग एब्यूज की रिपोर्ट में ऐसा दावा किया गया है कि ब्रेन स्टेम, लिम्बिक सिस्टम और सेरेब्रल कॉर्टेक्स सभी प्रभावित होते हैं। ब्रेन स्टेम आपके रोजाना जीवन के कार्यों को नियंत्रित करता हैं, जिसमें नींद, श्वास और हृदय गति शामिल है, जबकि लिम्बिक सिस्टम आपके ईमोशन को कंट्रोल करता हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।