अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जनता के सवालों का जवाब नहीं दे रही मोदी सरकार : दीपांकर

भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर ने कहा कि दस सितंबर को भारत बंद की सफलता से स्पष्ट हो गया है कि देश की जनता एनडीए सरकार से बेहद नाराज है। देशभर से उठ रहे लोगों के सवालों का जवाब देने की बजाए भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अमित शाह का यह कहना कि उनकी 50 वर्षों तक सरकार रहेगी दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने बुधवार को रांची स्थित पार्टी के राज्य मुख्यालय में पत्रकारों को संबोधित किया। 
कोलकाता में हुई पार्टी कि पोलित ब्यूरो और बीते 10-11 सितंबर को बोकारो में पार्टी की झारखंड कमेटी की बैठक के फैसलों की जानकारी देते दीपांकर ने कहा माले झारखंड के कोडरमा समेत अन्य दो संसदीय सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारियों में जुट गई है। कोडरमा में पिछले चुनाव के दौरान पार्टी दूसरे स्थान पर रही थी। पार्टी 28 सितंबर को शहीदे आज़म भगत सिंह के जन्मदिवस पर गिरिडीह जिले के  गांडेय  से  तिलैया तक पदयात्रा के जरिये सघन जनसंपर्क अभियान शुरू करेगी। समापन आठ अक्तूबर को तिलैया में जनसभा से किया जाएगा। 
  माले के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि देश में जो जागरूक बुद्धिजीवी, सामाजिक व मानवाधिकार कार्यकर्ता मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ और दलित, आदिवासी व अल्पसंख्यकों के अधिकार की आवाज उठा रहे हैं उनपर अर्बन नक्सल व राजद्रोह का आरोप मढ़ा जा रहा है। वरिष्ठ मानवाधिकार कार्यकर्त्ता फादर स्टेन स्वामी से मिलकर ली गयी जानकारी की चर्चा करते हुए दीपांकर ने कहा कि उनके यहां से पुणे पुलिस ने खतरनाक चीजों में एआर रहमान व इलैय्या राजा जैसे मशहूर संगीतकारों की सीडी भी है। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या ये दोनों भी अर्बन नक्सल हैं। 
दीपांकर ने कहा कि गोड्डा में सरकार व पुलिस के संरक्षण में जिस तरह से अडाणी कंपनी ने गरीब आदिवासी, किसानों की जमीन व फसल उजाड़ी उससे साबित हो गया है कि आनेवाले दिनों में ये सरकार कैसे कॉरपोरेट राज स्थापित करने जा रही है। उन्होंने आरोप लगा कि राज्य में भूख से हो रही लगातार मौत के मामले दबाए जा रहे हैं। 
उन्होंने ने मोदी और रघुवर सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि इनका शासन कानून के राज का माजाक उड़ा रहा है। जनता 2019 के चुनाव में एक-एक सवाल का जवाब देगी। प्रेस वार्ता के दौरान राज्य सचिव जनार्दन और केंद्रीय कमेटी सदस्य व पूर्व विधायक विनोद सिंह ने झारखंड राज्य जल पाइप लाइन गैस विधेयक का विरोध किया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Modi government not giving answers to public questions: Dipankar