DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेडिकल कॉलेज की रिक्तियों को लेकर एजी ने की आपत्ति

रांची।प्रमुख संवाददाता राज्य में तीनो मेडिकल कालेजों, रिम्स, रांची, पीएमसीएच, धनबाद और एमजीएम, जमशेदपुर में मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के मापदंडों को पूरा नहीं किए जाने के को लेकर एजी ने आपत्ति की है। इस बाबत एजी कार्यालय ने स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को एक पत्र भेजा है। पत्र में कहा गया है एमसीआई रेग्यूलेशन के तहत राज्य के मेडिकल कालेजों में निर्धारित मापदंडों और टीचर्स को रखना अत्यावश्यक है। जबकि, रिम्स को छोड़ दोनों मेडिकल कालेजों में मेडिकल टीचर्स के पद बड़ी संख्या में रिक्त पड़े हैं। जुलाई 2015 में एमसीआई ने पीएमसीएच धनबाद के निरीक्षण के बाद अपनी रिपोर्ट में कहा कि यहां प्रोफेसर के 33.33 प्रतिशत, एसोसिएट प्रोफेसर के 17.4 प्रतिशत और असिस्टेंट प्रोफेसर के 70 प्रतिशत पद खाली थे। जबकि, अक्टूबर 2016 में निरीक्षण के बाद एमसीआई ने कहा कि यहां 34.14 प्रतिशत पद शिक्षकों के खाली हैं। इन रिपोर्टों के बाद भी रिक्त पदों को नहीं भरा गया। एमसीआई ने अंतिम रिपोर्ट जुलाई 2017 में दी। इसमें भी कहा गया कि पीएमसीएच धनबाद में अभी भी 32.14 प्रतिशत पद खाली हैं। केवल पीएमसीएच ही नहीं, एमजीएम जमशेदपुर में भी चिकित्सा शिक्षको के बहुत से पद खाली हैं। अक्टूबर 2015 में एमसीआई की रिपोर्ट के मुताबिक यहां 47 प्रतिशत पद खाली थे। अक्टूबर 2016 में 36.6 प्रतिशत और जुलाई 2017 में यहां 36.6 प्रतिशत पद टीचर्स के रिक्त हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:medical