DA Image
29 नवंबर, 2020|7:05|IST

अगली स्टोरी

आकस्मिक स्थिति को छोड़, आधे घंटे भी फीडर से बिजली बंद नही करने का निर्देश

default image

रांची शहर में निर्बाध बिजली आपूर्ति को लेकर बुधवार को एसएलडीसी कुसई कॉलोनी में अधिकारियों की बैठक हुई। बैठक झारखंड ऊर्जा संचरण निगम लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक केके वर्मा के निर्देश पर किया गया। इसमें वाणिज्य के महाप्रबंधक ऋषिनंदन, विरतण के महाप्रबंधक संजय कुमार, विद्युत अधीक्षण अभियंता पीके श्रीवास्तव सहित छह डिविजनों के कार्यपालक विद्युत अभियंता शामिल हुए। इस दौरान निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए हर हाल में रांची में कम से कम 250 मेगावाट बिजली उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया। ताकि शहरी क्षेत्रों में लोड शेडिंग करने की स्थिति उत्पन्न न हो। आकस्मिक स्थिति में लोड शेडिंग सेडिंग करने के लिए पूर्व सूचना देने और शहर का कोई भी फीडर आंधे घंटे से ज्यादा बंद न हो। यह निर्देश भी दिया गया। लॉक डाउन में निर्बाध बिजली आपूर्ति को लेकर लिए गए निर्णय छह डिविजन हर हाल में निर्बाध बिजली आपूर्ति करना सुनिश्चित करे।बढ़ती गर्मी को देखते हुए पावर ट्रांसफार्मर की जांच करा ली जाए। पेड़ों की डालों की छटाई की जाए। जरूरत के हिसाब से योजना बनाई जाए।वाट्सअप ग्रुप में आने वाली बिजली शिकायतों का त्वरित निपटारा हो।ट्रांसफार्मर जलने पर शहरी क्षेत्र में 24 घंटे और ग्रामीण क्षेत्र में 48 घंटों में बदला जाए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Instructions not to turn off the power from the feeder for half an hour except in an accidental situation