ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड रांचीअपराध रोकने की पहल : कंट्रोल रूम में रातभर करनी होगी डीएसपी को ड्यूटी

अपराध रोकने की पहल : कंट्रोल रूम में रातभर करनी होगी डीएसपी को ड्यूटी

राजधानी में आपराधिक घटना होने पर तुरंत कार्रवाई करने और अपराध पर अंकुश लगाने के लिए पहली बार डीएसपी स्तर के अधिकारियों को नाइट शिफ्ट ड्यूटी करवायी...

अपराध रोकने की पहल : कंट्रोल रूम में रातभर करनी होगी डीएसपी को ड्यूटी
हिन्दुस्तान टीम,रांचीSat, 15 Jun 2024 02:30 AM
ऐप पर पढ़ें

रांची, वरीय संवाददाता।
राजधानी में आपराधिक घटना होने पर तुरंत कार्रवाई करने और अपराध पर अंकुश लगाने के लिए पहली बार डीएसपी स्तर के अधिकारियों को नाइट शिफ्ट ड्यूटी करवायी जाएगी। रांची पुलिस ने इसका एक नया रोस्टर तैयार किया है। इसके तहत रांची के सभी डीएसपी को अब सप्ताह में एक बार नाइट शिफ्ट ड्यूटी करनी होगी। यह ड्यूटी उन्हें कंट्रोल रूम में करनी होगी। डीएसपी स्तर के अधिकारियों को नाइट शिफ्ट के दौरान रांची के कचहरी स्थित पुलिस कंट्रोल रूम में उपस्थित रहना होगा। रात 11 से लेकर सुबह 6 बजे सुबह तक डीएसपी कंट्रोल रूम में नाइट शिफ्ट करेंगे। रांची में पदस्थापित प्रत्येक डीएसपी को एक सप्ताह तक नाइट ड्यूटी करनी है। इस दौरान उन्हें कंट्रोल रूम से पूरे शहर पर नजर रखना है। कौन डीएसपी पुलिस कंट्रोल रूम में कब नाइट शिफ्ट करेगा, इसके लिए बाकायदा रोस्टर बनाया गया है।

हर सूचना पर करना है रिएक्ट

एसएसपी चंदन कुमार सिन्हा ने बताया यह देखा जा रहा था कि रात के समय सूचनाएं मिलने के बावजूद पुलिस का रिस्पांस टाइम बेहतर नहीं हो पा रहा था। ऐसे में यह जरूरत थी कि एक सीनियर अधिकारी को पुलिस कंट्रोल में तैनात किया जाए, ताकि पुलिस का रिस्पांस समय बढ़िया हो। इसी को ध्यान में रखते हुए रांची के सभी डीएसपी से रोस्टर के आधार पर एक सफ्ताह के लिए नाइट शिफ्ट करवाया जा रहा है। पूरी रात डीएसपी कंट्रोल रूम से पूरे शहर की मॉनिटरिंग करेंगे।

हर सूचना आती है कंट्रोल रूम में

डायल 100 और डायल 112 जैसी हेल्पलाइन पर जो भी कॉल्स होते हैं, वो कंट्रोल रूम में ही आता है। इसके बाद उसकी जानकारी पीसीआर, माइक और थाना प्रभारियों को वायरलेस और फोन के जरिए दी जाती है। वैसे तो कंट्रोल रूम में एक स्थाई तौर पर एडिशनल एसपी की तैनाती की गई है, लेकिन वह काफी नहीं थी। एसएसपी ने बताया कि हाल के दिनों में कुछ बड़े घटनाओं को रोकने में नाइट शिफ्ट में काम कर डीएसपी की भूमिका रही है, भविष्य में इसे और बेहतर बनाया जाएगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।