DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  रांची  ›  बेड नहीं मिला तो होम आइसोलेशन में रहे मरीज की मौत, अब प्रशासन अंतिम संस्कार भी नहीं करा रहा

रांचीबेड नहीं मिला तो होम आइसोलेशन में रहे मरीज की मौत, अब प्रशासन अंतिम संस्कार भी नहीं करा रहा

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Wed, 21 Apr 2021 03:20 AM
बेड नहीं मिला तो होम आइसोलेशन में रहे मरीज की मौत, अब प्रशासन अंतिम संस्कार भी नहीं करा रहा

रांची। संवाददाता

रांची के अरगोड़ा पुंदाग रोड में किराया में रहने वाले 70 वर्षीय किशोर सेन छह दिन पहले कोविड संक्रमित पाये गये थे। शहर के किसी भी अस्पताल में बेड नहीं मिला तो वे मजबूरी में होम आइसोलशन में रहने को मजबूर हो गये। मंगलवार को सुबह 10 बजे उनकी मौत हो गयी। मौत हो गयी तो अब अंतिम संस्कार भी नहीं हो पा रहा। बैंगलोर में रहने वाली भतीजी ने भी रांची पहुंचने में असमर्थता जतायी और सारा जिम्मा मकान मालिक पर ही छोड़ दिया। मकान मालिक अमित कुमार ने बताया कि दस बजे से वे अंतिम संस्कार के लिये प्रयास कर रहे हैं पर अब तक नहीं हो पाया है। अरगोड़ा सीओ अब फोन भी नहीं अठा रहे हैं। मृतक बंगाल का रहने वाला था और अमित के घर में अकेले किराये में रहता था। देखने वाला भी कोई नहीं था। मकान मालिक ही देखभाल करता था।

बॉडी रैप करने के ले लिये 10 हजार रुपये

मौत होने के बाद जब मकान मालिक ने अरगोड़ा सीओ को फोन किया तो उन्होंने कहा कि आप बॉडी को रैप करवाइये हम एंबुलेंस भेजते हैं। बॉडी रैप करने आये दो युवकों ने दस हजार ले लिया। बता दें कि कोविड प्रोटोकॉल के तहत संक्रमित की मौत होने पर उसको रैप कर ही अंतिम संस्कार किया जाता है।

सीओ ने फोन उठाना कर दिया बंद

अरगोड़ा सीओ को जब बॉडी रैप होने के बाद फोन किया तो वे कहते रहे कि एंबुलेंस भेजते हैं। तीन चार बार उन्होंने यही कहा. उसके बाद उन्होंने फोन उठाना बंद कर दिया है।

संबंधित खबरें