class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिम्स में ग्रेजुएशन सेरेमनी: 34 को गोल्ड मेडल, 158 छात्रों को मिली डिग्री

रिम्स में ग्रेजुएशन सेरेमनी: 
34 को गोल्ड मेडल, 158 छात्रों को मिली डिग्री

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा है कि डॉक्टरों का पेशा बड़ा ही सम्मानित है। लोग आपको भगवान मानते हैं। इसकी गरिमा बनाए रखना आपके ही हाथ में है। आप सकारात्मक सोच के साथ काम करें। आपने जो पढ़ाई की है उसका लाभ समाज को मिलना चाहिए। अंतिम व्यक्ति तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचनी चाहिए। कोई भी देश या राज्य तभी विकास कर सकता है जब वहां की जनता सेहतमंद हो। राज्यपाल मंगलवार को रिम्स ऑडिटोरियम में आयोजित ग्रेजुएशन सेरेमनी को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि ग्रेजुएशन सेरेमनी अंतिम पड़ाव नहीं है। इसके आगे भी अपार संभावनाएं हैं। स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि आप मरीजों की हर संभव मदद करें। हमेशा यही कोशिश करें कि उनका फायदा यदि नहीं कर सकते हैं तो उन्हें किसी प्रकार का नुकसान नहीं हो। आप मानव सेवा को अपना सेवा बनाएं। रांची विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ रमेश पांडेय ने छात्रों को कठिन परिश्रम करने के साथ साथ ईमानदारी से काम करने की सलाह दी। कुलपति ने कहा कि जीवन में केवल पैसा ही सबसे जरूरी नहीं है। कार्यक्रम की शुरुआत निदेशक डॉ आरके श्रीवास्तव ने अतिथियों का स्वागत कर किया। कार्यक्रम का सफल संचालन डॉ शीतल मलुआ, डॉ अर्चना और डॉ निशिथ एक्का ने किया। अंत में डॉ मंजू गाड़ी ने धन्यवाद ज्ञापन किया। इस अवसर पर डॉ एचपी नारायण, डॉ बीके सिंह, डॉ सीबी सिन्हा, डॉ आरएन सिंह, डॉ एनके झा समेत तमाम सेवानिवृत डॉक्टरों के अलावा रिम्स के सैकड़ों डॉक्टर और छात्र उपस्थित थे। 34 को गोल्ड मेडल, 158 को मिली डिग्री ग्रेजुएशन सेरेमनी के दौरान 34 छात्रों को गोल्ड मेडल से नवाजा गया, जिसमें छह अंडर ग्रेजुएट एवं 28 पोस्ट ग्रेजुएट शामिल हैं। अंडर ग्रेजुएट के छह छात्रों में चार लड़कियां हैं। 158 छात्रों को डिग्री दी गई। जिसमें 101 अंडर ग्रेजुएट व 57 पोस्ट ग्रेजुएट छात्र शामिल थे। रिम्स देश का बड़ा अस्पताल बने राज्यपाल ने कहा कि रिम्स देश का बड़ा अस्पताल बने, इस दिशा में काम करने की जरूरत है। राज्य में चिकित्सा सेवा में सुधार (मेडिकल अपग्रेडेशन) की जरूरत है, जिसकी जिम्मेवारी रिम्स को लेनी होगी। रिम्स के सभी विभाग व सेंटर नई सोच के साथ काम करें। शिशु रोग विशेषज्ञ बनेगी प्रिया प्रिया सर्राफा को डॉ राजेंद्र प्रसाद कॉमोमोटरी बेस्ट ग्रेजुएट का अवार्ड मिला है। प्रिया कहती है वह शिशुरोग विशेषज्ञ बनना चाहती है। वह जानती है कि यह उतना आसान नहीं है। सीटें बहुत ही कम है। इसके लिए उसे कठिन मेहनत करनी होगी, जो वह करेगी। वह हर हाल में शिशुरोग विशेषज्ञ बनेगी। सेवा करना चाहता है विमलेश विमलेश कुमार को आज डिग्री मिली है। वह कहता है कि अभी आगे बहुत पढ़ाई करनी है। लेकिन वह अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद समाज की सेवा करना चाहता है। उनका मानना है कि बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें समुचित स्वास्थ सुविधाएं नहीं मिल पाती हैं। वह उसी दिशा में आगे काम करेगा। सेल्फी की होड़ जैसे ही ग्रेजुएशन सेरेमनी खत्म हुआ, छात्रों की भीड़ ऑडिटोरियम के बाहर आ गई। उसके बाद तो वहां फोटो खींचने और खिंचवाने की होड़ लग गई। गाउन में सजे छात्र कभी अपने साथियों के साथ तो कभी अपने परिजनों के साथ सेल्फी लेने में व्यस्त हो गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:greduation ceremany held in rims
मुख्यमंत्री का पोर्टल लॉन्च: सीएम तक बात पहुंचाने का एक और रास्ता तैयारराष्ट्रपति की सुरक्षा के मद्देनजर सात जोन में बंटी रांची, राष्ट्रपति के काफिले में होंगी 22 गाड़ियां