DA Image
9 अगस्त, 2020|2:25|IST

अगली स्टोरी

थाना से अपराधी के फरार मामले में थानेदार समेत चार सस्पेंड

default image

सीठियो टीओपी से अपराधी राजू गोप के फरार होने के मामले में तुपुदाना ओपी प्रभारी तारिक अनवर, एएसआई सत्येंद्र सिंह समेत चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने इस संबंध में आदेश जारी किया है। एसएसपी ने हटिया एएसपी विनित कुमार की जांच रिपोर्ट के बाद यह कार्रवाई की है। एसएसपी के आदेश में कहा गया है कि पुलिसकर्मियों की लापरवाही से ही राजू गोप फरार हुआ था। तैनात कर्मियों ने कई स्तर पर चूक की है। बता दें कि 15 जुलाई को राजू गोप को रांची-खूंटी मार्ग के टोरियन वर्ल्ड स्कूल के पास देर रात ताबड़तोड़ फायरिंग और पोस्टरबाजी मामले में गिरफ्तार किया गया था। लेवी की मांग को लेकर पोस्टरबाजी की गई थी। बीते शनिवार की देर रात कुख्यात अपराधी राजू गोप सीठियो टीओपी से फरार हो गया। उसे बिना हाजत वाले सीठियो टीओपी में रखकर पुलिसकर्मी सोते रहे। इसबीच अपराधी कमरानुमा हॉल की कुंडी खोलकर फरार हो गया। वहां तैनात तीन जवानों में एक जवान रविवार की सुबह करीब तीन बजे जगा तो देखा दरवाजा खुला हुआ था और राजू गोप भाग चुका था। इसके बाद इसकी सूचना केस के अनुसंधानकर्ता सत्येंद्र सिंह, तुपुदाना ओपी प्रभारी तारीक अनवर, धुर्वा प्रभारी राजीव कुमार सहित अन्य को दी गई। सूचना मिलने के बाद महकमा में हड़कंप मच गया। मामले को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी ने हटिया एएसपी को जांच करने की जिम्मेवारी दी थी। डीजीपी से भी की थी शिकायत राजू गोप की पत्नी मीना देवी ने तुपुदाना टीओपी प्रभारी पर एक लाख रुपये मांग करने का आरोप लगाया है। मीना देवी ने डीजीपी एमवी राव से लिखित शिकायत की है, जिसमें बताया गया है कि पांच साल जेल की सजा काटने के बाद राजू गोप 19 जून को रिहा होकर आया। तुपुदाना टीओपी प्रभारी उनके पति से एक लाख रुपए मांग रहे थे। कहा था कि पैसे नहीं दोगे तो तुम्हारा हम एनकाउंटर कर देंगे। नहीं तो झूठे केस में पिछली बार की तरह फिर फंसा कर जीवन भर जेल में ही रखेंगे। डीजीपी के अलावे मुख्यमंत्री और ग्रामीण एसपी से भी लिखित शिकायत की गई थी। गिरफ्तारी के विरोध में घेरा था थानाराजू गोप के परिजनों ने मंगलवार को तुपुदाना थाने का घेराव कर खूब हंगामा किया था। महिला समिति एवं ग्रामीण सैकड़ों की संख्या में तुपुदाना ओपी का घेराव किया था। थाना का गेट बंद कर पुलिस ने सभी को वापस भेजने की कोशिश की, हालांकि पुलिस नाकाम रही। परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने राजू का एनकाउंटर कर दिया है। हंगामा बढ़ता देख तुपुदाना थाना प्रभारी तारिक अनवर ने दो दिनों के भीतर राजू गोप को ढूंढ़ कर कोर्ट में प्रस्तुत करने का आश्वासन दिया था। आश्वासन के बाद ग्रामीण शांत हुए और सभी वापस लौट गए थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Four suspended including the Sho