DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिम्स के कार्डियोलॉजी में खुलेगा चार बेड का इमरजेंसी वार्ड

रिम्स के कार्डियोलॉजी विभाग में चार बेड का कार्डियक इमरजेंसी वार्ड खोला जाएगा। यह वार्ड कॉर्डियोलॉजी बिल्डिंग में नीचे ग्राउंड फ्लोर पर होगा। जहां गंभीर स्थिति में आने वाले हृदय रोग के मरीजों को त्वरित उपचार उपलब्ध कराने की हर व्यवस्था उपलब्ध होगी। रिम्स प्रबंधन ने इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। इससे वैसे मरीजों को काफी सहूलियत होगी जो हार्ट अटैक के बाद यहां पहुंचेंगे। फिलहाल हृदय रोग के गंभीर मरीज रिम्स इमरजेंसी पहुंचते हैं, जहां से उन्हें कार्डियोलॉजी डिपार्टमेंट भेजा जाता है। कार्डियोलॉजी में तीसरे तल पर कार्डियोलॉजी आईसीयू स्थित है। कभी-कभी तो बिल्डिंग का एक भी लिफ्ट नहीं चलती है। ऐसी स्थिति में गंभीर मरीजों को ऊपर ले जाने में न सिर्फ काफी परेशानी होती है। ऐसी स्थिति में गंभीर मरीजों को इमरजेंसी में उपचार के बाद ही ऊपर आईसीयू में भेजा जाएगा या जरूरत पड़ने पर प्राइमरी एंजियोप्लास्टी की जाएगी।कार्डियोलॉजी को मिला कार्डियक एंबुलेंसरिम्स के कार्डियोलॉजी विभाग को कार्डियक एंबुलेंस उपलब्ध करा दिया गया है। अब एंबुलेंस मरीजों को सीधे कार्डियक इमरजेंसी पहुंचाएगा, जहां उन्हें त्वरित उपचार उपलब्ध कराई जाएगी। ज्ञात हो कि वर्षों पूर्व खेलगांव में आयोजित राष्ट्रीय खेल के दौरान सरकार ने रिम्स के कार्डियोलॉजी विभाग को करोड़ों की लागत से बना दो कार्डियक एंबुलेंस उपलब्ध कराया था, लेकिन प्रबंधन ने चालक नहीं होने को बहाना बनाते हुए दो दिन बाद ही एंबुलेंस ले लिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Emergency ward of four beds will open in cardiology