class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिटफंड घोटाला: ईडी ने रांची के होटल पार्क प्राइम को किया अटैच

रोजवैली चिटफंड घोटाला में गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने होटल पार्क प्राइम को अटैच कर लिया। कोलकाता में दर्ज चिटफंड घोटाले से संबंधित कांड में ईडी ने यह कार्रवाई की है।

गुरुवार की दोपहर ईडी के सहायक निदेशक हरीशचंद्र, स्वपन बोस, प्रवर्तन अधिकारी अमित कुमार, डिप्टी डायरेक्टर के सहायक नरेश कुमार मौके पर पहुंचे और होटल के अटैचमेंट की कार्रवाई पूरी की। रोजवैली चिटफंड घोटाले में पश्चिम बंगाल ,ओडिशा और झारखंड में करोड़ों की ठगी हुई थी। चिटफंड के जरिए की गई काली कमाई से ही होटल एके इंटरनेशनल को खरीदा गया था। होटल की खरीद के बाद इसके नाम को बदलकर पार्क प्राइम कर दिया गया था। साल 2013 में रांची के होटल पार्क प्राइम होटल को रोज वैली ने लगभग 70 करोड़ रुपये में खरीदा था।

पार्क प्राइम होटल अगले आदेश तक डायरेक्टरेट ऑफ इंफोर्समेंट के पास रहेगा। होटल से होनेवाली आय और दूसरे लाभ को ईडी के खाते में ही जमा कराया जाएगा।

2014 में दर्ज हुई थी प्राथमिकी

ईडी ने पीएमएलए कानून के तहत 2014 में रोज वैली के चेयरमैन गौतम कुंडू और अन्य लोगों के खिलाफ अपराधिक प्राथमिकी दर्ज की थी। कुंडू को एजेंसी ने 2015 में ही गिरफ्तार किया था। रोज वैली चिटफंड के लिए कथित तौर पर कुल 27 कंपनियां खोली थी, जिसमें से महज छह ही सक्रिय थी। ईडी और सीबीआई द्वारा इस संबंध में रोज वैली के खिलाफ मामला दर्ज की जाने से पहले सेबी ने कंपनी की जांच की थी ईडी के अनुसार इस मामले में 15000 करोड़ की कथित अनियमितताएं सामने आई हैं।

मां के नाम पर खरीदी थी संपत्ति

जांच में यह बात सामने आयी है कि रोजवैली के संचालक गौतम कुंडू ने चॉकलेट ग्रुप ऑफ होटल्स नाम की कंपनी गठित कर होटल की खरीद की थी। होटल की खरीद गौतम ने अपनी मां विभा कुंडू के नाम पर की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ED attaches to Ranchi Hotel Park Prime
रांची: 11 बड़े डाक्टरों पर FIR,मरीज का किया गलत इलाज जिससे हो गई मौतबिरसा जैविक उद्यान में आया नन्हा हिप्पोपोटामस