DA Image
20 जनवरी, 2021|6:04|IST

अगली स्टोरी

कोरोना काल में बच्चों की समस्याओं पर हुई चर्चा

default image

एक्सआईएसएस के ग्रामीण विकास प्रबंधन के प्रकृति क्लब की ओर से गुरुवार को वेबिनार का आयोजन किया गया। कोरोना में बच्चों के संरक्षण विषय पर वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किए। मॉडरेटर संजय कुमार वर्मा ने कार्यक्रम की शुरुआत की। सहायक निदेशक फादर प्रदीप केरकट्टा एसजे ने अतिथियों का स्वागत किया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आमोदकांत ने कहा कि यह महामारी शिशुओं के लिए नई चुनौती बन गई है। साथ ही उन्होंने अपने द्वारा शुरू किए गए संगठन ‘प्रयास के बारे में बताया, जो दयनीय शिशुओं को सुरक्षा देने के लिए संगठित किया गया है।

चाइल्ड लाइन इंडिया फाउंडेशन की उपनिदेशक हरलीन वालिया ने इस संकट की घड़ी में चाइल्ड लाइन इंडिया के कर्मचारियों द्वारा किए गए कार्यों के बारे में बताया। कहा कि इस महामारी के दौर में बच्चों की सबसे बड़ी समस्या भोजन, आवास और स्वास्थ्य की देखी गई है। उन्होंने आपातकालीन सेवा में 1098 फोन नंबर के बारे में बताया, जिससे उनकी समस्याओं का समाधान किया जाता है।

प्रोत्साहन इंडिया फाउंडेशन की निदेशक सोनल कपूर ने कई आंकड़े साझा किए। इसमें बताया गया कि अक्सर धन के अभाव में किशोर गलत संगत में फंस जाते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Discussion on the problems of children during the Corona period