DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › रांची › मांग: एचईसी की खाली जमीन रैयतों को वापस करें, बड़कागढ़ रैयत जनमंच की बैठक
रांची

मांग: एचईसी की खाली जमीन रैयतों को वापस करें, बड़कागढ़ रैयत जनमंच की बैठक

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Mon, 02 Aug 2021 03:10 AM
मांग: एचईसी की खाली जमीन रैयतों को वापस करें, बड़कागढ़ रैयत जनमंच की बैठक

रांची। प्रमुख संवाददाता

एचईसी की खाली जमीन रैयतों को वापस करने की मांग बड़कागढ़ रैयत जनमंच ने की है। जनमंच की रविवार को जगन्नाथपुर में हुई बैठक में कहा गया कि एचईसी के निर्माण के लिए रैयतों की जमीन का अधिग्रहण किया गया था। उस समय यह शर्त रखी गयी थी कि जिस जमीन का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा उसे रैयतों को वापस कर दिया जाएगा, लेकिन अभी तक किसी को जमीन वापस नहीं की गयी है। एचईसी खाली जमीन लीज पर दे रहा है और कुछ जमीन सरकार को वापस कर दी गयी है, जबकि जमीन रैयतों को वापस होनी चाहिए थी।

बैठक में जनमंच के संयोजक ठाकुर नवीन नाथ शाहदेव ने कहा कि बड़कागढ़ देवभूमि क्षेत्र है। लेकिन आए दिन इलाके में अतिक्रमण हो रहा है। बैठक में जगन्नाथपुर, आनी टोला, भुसूर मौजा के अतिक्रमण हटाने की मांग प्रशासन से की गयी। निर्णय लिया गया कि संगठन को मजबूत बनाने के लिए 35 गांवों में बैठक कर लोगों को जागरूक किया जाएगा। इन गांवों को चार जोन मे बांट कर आठ प्रभारी तय किए जाएंगे। सभी विस्थापित परिवार चार सप्ताह में जमीन का विवरण और सूची जनमंच कार्यालय में जमा करेंगे। रैयतों के अलावा एचईसी क्षेत्र के सभी आक्रोशित लोगों को एकजुट किया जाएगा। अगली बैठक में आंदोलन की रूप रेखा तय की जाएगी।

बैठक को कैला‌श यादव, मोखतार अंसारी, सूरज नाथ शहदेव, सुरेश सिंह, अनवारूल अंसारी, रामकुमार सिंह, परवेज खान, सत्यप्रकाश प्रजापति, विश्वजीत शहदेव, नीलम चौधरी, जबीउल्लाह अंसारी एवं अन्य ने संबोधित किया।

संबंधित खबरें