अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनुकंपा पर नौकरी का नि़र्णय तुरंत लें उपायुक्त: मुख्यमंत्री

अनुकंपा पर नौकरी के मामले में अब लेटलतीफी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कई जिलों में दो-दो वर्षों तक उपायुक्त अनुशंसा तक नहीं करते। एसीबी भी तय सीमा में किसी मामले की जांच करे। लोहरदगा में आंगनबाड़ी सेविका की नियुक्ति में गड़बड़ी पर सीएम रघुवर दास नाराज हो गए और जांच के आदेश दिए। सूचना भवन में मंगलवार को मुख्यमंत्री जनसंवाद आयोजित किया गया, जिसमें 17 मामलों का निपटारा किया गया। लोहरदगा में मसना की जमीन पर डोभा बनाने की शिकायत की गई और काम बंद कराने की मांग की गई। इसपर सीएम ने डोभा का निर्माण बंद कराने का आदेश दिया। लोहरदगा के शमी मुशर्रफ हुसैन ने कहा कि जिम्मा चौक से गोपीटोला सड़क का निर्माण 2007 में शुरू हुआ, जो अबतक पूरा नहीं हुआ। सीएम ने उसे तुरंत पूरा करने का आदेश दिया। कोडरमा के कृष्णलाल मेहता की उम्र 101 वर्ष है। उन्हें वृद्धावस्था पेंशन नहीं मिलती है। विभागीय सचिव ने तुरंत इसपर कार्रवाई का आदेश दिया। बुजुर्ग जनसंवाद में नहीं पहुंचे थे। गढ़वा के कृष्णा प्रसाद और कमला तुरी ने कहा कि हरहे पंचायत में बिजली के खंभे और तार लग गए, लेकिन बिजली की आपूर्ति नहीं हुई। ऊर्जा सचिव नितिन मदन कुलकर्णी ने एक माह में सबकुछ ठीक करने का आदेश दिया। रांची के दिनेश प्रसाद ने कहा कि एयरपोर्ट अथॉरिटी ने उनकी जमीन अधिग्रहित कर ली, लेकिन मुआवजा का भुगतान नहीं किया। रांची डीसी को निर्देश दिया गया कि वे इसपर तुरंत कार्रवाई करें। हजारीबाग के विजय कुमार ने कहा कि उन्होंने सड़क निर्माण किया, लेकिन भुगतान नहीं हुआ है। मुख्यमंत्री ने एक माह में 54 लाख रुपए के भुगतान का निर्देश दिए। डोमचांच की शारदा खड़क ने कहा कि दीपबहादुर बिजली विभाग में चतुर्थवर्गीय कर्मचारी थे। अबतक सरकारी सहायता नहीं मिल पायी है। सीएम ने ऊर्जा सचिव को निर्देश दिया कि तुरंत मामले का निपटारा करें। कटकमसांडी के सीताराम मेहता ने कहा कि बबरा गांव में करारे डैम में लिफ्ट एरिगेशन लगाया गया, जो पांच वर्षों से बंद है। सचिव सुखदेव सिंह ने कहा कि गांव के लोगों को लिखकर देना होगा कि सरकार जो पैसा देगी, उसका उपयोग होगा और लोग उसका रखरखाव करेंगे। धनबाद के उदय शंकर सिंह ने कहा कि उनकी जमीन रिंग रोड के लिए अधिग्रहित की गई, लेकिन अबतक मुआवजा नहीं मिला। डीसी ने कहा कि इस मामले की जांच एसीबी करती है। सीएम ने एसीबी को निर्देश दिया कि वह समय सीमा में सभी तरह के मामले की जांच करे। रांची के बुंडू के अतुल पातर ने कहा कि उग्रवादियों ने राममोहन पातर की हत्या कर दी, लेकिन अबतक अनुकंपा पर नौकरी नहीं मिली। इसपर सीएम ने कहा कि इस तरह के कई आरोप मिल रहे हैं। लग रहा है कि अनुकंपा मामले में लेटलतीफी हो रही है, यह बर्दाश्त नहीं होगी। रांची के मिथिलेश कुमार ने कहा कि आवास बोर्ड द्वारा लॉटरी से उन्हें जमीन मिली, लेकिन अबतक रजिस्ट्री नहीं हुई है। सीएम ने भरोसा दिया कि सरकार इसपर तुरंत कार्रवाई करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DC Take decision on compassion : CM