DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रांची में खुला देश का सबसे बड़ा मछलीघर

रांची की उपलब्धियों के अध्याय में एक पन्ना और जुड़ गया है। बुधवार को ओरमांझी स्थित बिरसा मुंडा जैविक उद्यान में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भगवान बिरसा मुंडा मछलीघर का उद्घाटन और इको पार्क का शिलान्यास किया।
इस अवसर पर सीएम रघुवर दास ने कहा पर्यावरण संरक्षण सरकार की सवार्ेच्च प्राथमिकता है। विकास हमेशा पर्यावरण को ध्यान में रखकर ही किया जाना चाहिए। झारखंड में वन संपदा बहुत समृद्ध है। इसे सही से संभालने और संवारने की जरूरत है। यह रोजगार का भी बहुत बड़ा माध्यम बन सकता है। पर्यावरण से, जानवरों से लोगों को प्यार करना चाहिए। तभी इनकी रक्षा हो सकती है।
उन्होंने कहा भारत के सबसे बड़ी मछली घर का झारखंड में होना बड़ी बात है। इससे यहां के पर्यटन को और बढ़ावा मिलेगा। लोग अपनी चिंताओं को दूर करने के लिए ऐसी जगहों पर आना पसंद करते हैं। लेकिन यह ज्ञान का भी केंद्र है। खासकर यहां आनेवाले बच्चों को मछलियों के बारे कई रोचक जानकारियां मिल सकेंगीं। उन्होंने कहा, पास ही तितली पार्क भी बनाया जा रहा है। यहां विभिन्न प्रजातियों की रंग-बिरंगी तितलियां रहेंगी। रघुवर दास ने कहा आनेवाले समय में राज्य में इस तरह के पार्क कम नॉलेज सेंटर और खोलने की योजना है।
500 से एक लाख रुपए तक की हैं मछलियां
जू निदेशक अशोक कुमार ने बताया इसमें 500 से लेकर एक लाख रुपए तक की मछलियां हैं। इन्हें बैंकॉक, सिंगापुर, मलेशिया से मंगवाया गया है। लोग यहां 120 प्रजाति की 1600 से अधिक मछलियों का दीदार कर सकते हैं। इसमें देशी-विदेशी सभी तरह की मछलियां शामिल हैं। इसे देखने के लिए बच्चों को 15 रुपए का टिकट लगेगा, वहीं बाकियों को 30 रुपए का टिकट लेना होगा। फिलहाल मुंबई की एजेंसी यूटेकर फिशर्स ने इसे तैयार किया है। अगले एक साल तक वही इसका देखरेख करेगी।
58 एक्वेरियम में रखी गई हैं मछलियां
मछली घर में कुल 58 एक्वेरियम बनाए गए हैं। सभी एक्वेरियम में अलग-अलग प्रजाति की मछलियां रहेंगी। 15 टैंक आरसीसी के हैं, बाकी सभी टैक शीशे से बनाए गए हैं। आरसीसी टैंक में बाहर से शीशा लगाया गया है। मछली घर के ऊपर का हिस्सा बादल के लुक का है। बाहरी सुंदरता को आकर्षक बनाया गया है। बाहर बने पोर्टिको में व्हेल मछली और हाथी का स्टेच्यू लगाया गया है। सामने पेंटिंग और फूल लगाए गए हैं।
राज्य के पहले इको पार्क के निर्माण की शुरुआत
मुख्यमंत्री ने कहा, हमारी सरकार पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई काम कर रही है। इसी कड़ी में इको पार्क का शिलान्यास किया गया है। इस अवसर पर वन विभाग के प्रधान सचिव इंदू शेखर चतुर्वेदी ने कहा कि इको पार्क को 5.67 करोड़ रुपए की लागत से तैयार किया जा रहा है। यह 4.99 एकड़ में होगा। इसके तहत रोज गार्डेन, चिल्ड्रेन जोन, भूल भुलैया, झरना, फव्वारा, इसमें फाउंटेन, जॉगिंग ट्रैक, बैठने की जगह आदि होगी। मौके पर सांसद रामटहल चौधरी, विधायक रामकुमार पाहन, पीसीसीएफ आरआर हेंब्रोम, पीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ एलआर सिंह, बायोडायवर्सिटी बोर्ड के  सदस्य सचिव दिनेश कुमार, जू निदेशक अशोक कुमार, ग्रामीण एसपी राजकुमार लकड़ा, ट्रैफिक एसपी संजय रंजन, सदर डीएसपी  विकासचंद्र श्रीवास्तव, ट्रैफिक डीएसपी राधाप्रेम किशोर, दिलीप खलखो सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।
सेल्फी जोन में ले सकते हैं फोटो
कहीं भी फोटो लेने की आजादी नहीं है। खासकर मछलियों की फोटो लेने की सख्त मनाही है। क्योंकि कैमरे या मोबाइल के फ्लैश से मछलियों के आंख खराब हो सकते हैं। ऐसे में उनकी मौत भी हो सकती है।
मछलियों के प्रकार
कोई फिश, बेसिक गोल्ड फिश, एग्जॉटिक गोल्ड फिश, एंजल फिश, डिस्कश फिश, सिल्वर डॉलर, एलिगेटर गार, स्टिंग रे, रेड बेलिड पिरान्हा, एडिबल फिश, सेवेरम, ऑस्कर, मॉर्फ फिश, फॉर्नटोसा, चिचिल्ड, नाइफ फिश, पैरट, एग्जॉटिक चिचिल्ड, गौरामी, किसिंग गौरामी, स्कैट फिश, मोनोएंजल फिश, चान्ना फिश, ईल फिश, लॉब्सटर फिश, कैटफिश फिश, सेनेगल बिचिर, ब्लॉक घोस्ट फिश, लौचेज फिश, सकर फिश, शार्क, रामी रेजी फिश, पफर फिश, बाला शार्क, रोजी बार्ब फिश, टाइगर बार्ब फिश, एल्बिनो टाइगर बार्ब फिश, पर्ल एरोवाना फिश, सिल्वर एरोवाना फिश, फाइटर फिश, मॉली फिश, प्लैटी फिश, शॉर्डटेल, रेनबो फिश, फ्लावर हॉर्न फिश, एल्बिनो फ्लावर हॉर्न फिश, आर्चर फिश

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:country's largest aquarium open in Ranchi