DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  रांची  ›  कोरोना: बेपरवाह हुए लोग, न मास्क न दो गज की दूरी
रांची

कोरोना: बेपरवाह हुए लोग, न मास्क न दो गज की दूरी

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 09:40 PM
कोरोना: बेपरवाह हुए लोग,  न मास्क न दो गज की दूरी

रांची। संवाददाता

झारखंड में अनलॉक की घोषणा के बाद बाजारों में भीड़ उमड़ने लगी है। लोग कोरोना को लेकर बेपरवाह होने लगे हैं। कोरोना के खौफ की किसी को परवाह नहीं है। बाजारों में भीड़ उमड़ रही है। बिना मास्क के लोग घूम रहे हैं। अधिकांश लोगों के मास्क नाक के नीचे लटकते हुए मिल रहे हैं। जिन दुकानों को खोलने की अनुमति दी गयी है वहां नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। अधिकांश दुकानों में न तो सेनेटाइजर है और न ही रजिस्टर में ग्राहकों का ब्योरा ही दर्ज किया जा रहा है। सरकार के

मेन रोड के फुटपाथ बाजार, डेली मार्केट जैसे एरिया में अक्सर जाम की स्थिति बन जा रही है। लोग एक दूसरे से सटकर बाजार में खरीददारी कर रहे हैं। कई दुकानों में न तो दुकानदार मास्क पहने नजर आते हैं और न ही ग्राहक। यहां तक कि दुकानों में सेनेटाइजर आदि की भी व्यवस्था नहीं है । रांची के हरमू, डोरंडा, हिनू लालपुर के छोटे बाजारों में यह नजारा आम है। इन बाजारों में भीड़ देखकर लगता नहीं कि लोगों को कोरोना का भय है। कोरोना का प्रभाव कम होने से लोग निश्चिंत हो गए हैं। नियमों को भी नहीं मान रहे हैं। हालांकि मॉल और शॉपिंग कॉम्पेल्क्स में दुकानदार बहुत हद तक सरकार की गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं। यहां दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए निशान बनाए गए हैं।

चौक चौराहों पर लगा रहा मजमा

शहर के सभी चौक चौराहों पर लोगों का मजमा लग रहा है। लोग चाय की चुस्की के साथ चर्चा करते नजर आ रहे हैं। यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन तो नहीं हो रहा है बिना मास्क के भी लोग जमा हो रहे हैं। जबकि सरकार ने पांच से अधिक लोगों को एक स्थान पर जमा नहीं होने का आदेश जारी किया है।

पुलिस भी हुई सुस्त

नियमों का पालन कराने के लिए शहर में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गयी है। लेकिन कहीं भी भीड़ हटाने और नियमों का पालन कराने के लिए कार्रवाई नहीं हो रही है। ट्रैफिक पुलिस बिना हेलमेट वालों को ही पकड़ रही है। विभिन्न इलाकों में प्रतिनियुक्त मजिस्ट्रेट भी कोई कार्रवाई नहीं करते दिख रहे हैं। किसी भी प्रतिष्ठान में जाकर मानकों के पालन की जांच नहीं की जा रही है।

संबंधित खबरें