ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड रांचीचीनी साइबर अपराधियों के नेटवर्क से जुड़े युवक को सीआईडी ने असम से किया गिरफ्तार

चीनी साइबर अपराधियों के नेटवर्क से जुड़े युवक को सीआईडी ने असम से किया गिरफ्तार

चीन और हांगकांग में बैठे साइबर अपराधी स्थानीय नेटवर्क बना यहां के साइबर अपराधियों के साथ ठगी की वारदात को अंजाम दे रहे...

चीनी साइबर अपराधियों के नेटवर्क से जुड़े युवक को सीआईडी ने असम से किया गिरफ्तार
हिन्दुस्तान टीम,रांचीSun, 16 Jun 2024 02:30 AM
ऐप पर पढ़ें

रांची, विशेष संवाददाता। चीन और हांगकांग में बैठे साइबर अपराधी स्थानीय नेटवर्क बना यहां के साइबर अपराधियों के साथ ठगी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। विदेशी धरती से ठगी के मामले में भारतीय नेटवर्क से जुड़े साइबर अपराधी फरहादूर रहमान उर्फ तंजीम को सीआईडी ने गिरफ्तार किया है। तंजीम की गिरफ्तारी केंद्रीय गृह मंत्रालय की संस्था आई4सी व असम पुलिस की मदद से असम के धुबरी जिले के फकीरगंज से हुई। इससे पहले इसी गिरोह के रवि शंकर द्विवेदी उर्फ राजू को छावला व वीरेंद्र को हरियाणा के कैथल से बरामद किया था।
कैसे की गई ठगी

रांची की रहने वाली एक युवती को साइबर अपराधियों ने व्हाट्सएप के जरिए संपर्क साधा। इसके बाद वीडियो लाइक करने के पार्ट टाइम नौकरी का झांसा दिया। साइबर अपराधियों ने टेलीग्राम के एक आईडी के माध्यम से टास्क देना शुरू किया, इसके बाद शुरूआती भुगतान कर विश्वास कायम किया। बाद में अधिक रिर्टन के लिए कंपनियों में निवेश का झांसा दिया गया। इसके बदले कुल 29.94 लाख रुपये की साइबर ठगी की गई। अनुसंधान के क्रम में यह बात सामने आयी कि साइबर ठगी के लिए चीन, हांगकांग, एमेस्ट्रडम, नीदरलैंड, सिंगापुर के आईपी एड्रेस का इस्तेमाल किया गया। सीआईडी ने साइबर अपराधियों के द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे बैंक खातों में 9.36 लाख रुपये फ्रिज भी करवाए हैं।

एमएसएमई और जीएसटी में भी फर्जी कंपनियों का रजिस्ट्रेशन

सीआईडी की जांच में यह बात सामने आयी है कि नकली बैंक खाता खोलने के लिए फर्जी तरीके से सिम कार्ड का उपयोग किया गया। इसी बैंक खातों का इस्तेमाल एमएसएमई और जीएसटी रजिस्ट्रेशन कर करेंट बैंक एकाउंट खोलने में किया गया। इन बैंक खातों का पूरा क्रेडेंशियल विदेशी साइबर अपराधियों के पास होता था। आधार, पैन कार्ड, जीएसटी और उद्यम रजिस्ट्रेशन का उपयोग भी विभिन्न बैंकों में प्रोपराइटरशिप फर्म के कॉरपोरेट बैंक खाते खोलने में किया गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।