ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड रांचीसीबीसएई के प्राचार्यों ने जानी नेशनल क्रेडिट फ्रेमवर्क की प्रक्रिया

सीबीसएई के प्राचार्यों ने जानी नेशनल क्रेडिट फ्रेमवर्क की प्रक्रिया

सीबीएसई एवं डॉ एस राधाकृष्णन सहोदय स्कूल कॉम्प्लेक्स की ओर से नेशनल क्रेडिट फ्रेमवर्क विषय पर सीबीएसई स्कूल के प्राचार्यों का राज्यस्तरीय सेमिनार...

सीबीसएई के प्राचार्यों ने जानी नेशनल क्रेडिट फ्रेमवर्क की प्रक्रिया
हिन्दुस्तान टीम,रांचीFri, 21 Jun 2024 09:30 PM
ऐप पर पढ़ें

रांची, वरीय संवाददाता। सीबीएसई एवं डॉ एस राधाकृष्णन सहोदय स्कूल कॉम्प्लेक्स की ओर से नेशनल क्रेडिट फ्रेमवर्क विषय पर सीबीएसई स्कूल के प्राचार्यों का राज्यस्तरीय सेमिनार शुक्रवार को डीपीएस रांची में आयोजित किया गया। सहोदय के अध्यक्ष और डीपीएस रांची के प्राचार्य डॉ राम सिंह ने भारत के भविष्य के शैक्षिक परिदृश्य को आकार देने में एनसीआरएफ की परिवर्तनकारी क्षमता पर जोर दिया। सीबीएसई दिल्ली के स्किल एजुकेशन निदेशक डॉ बिश्वजीत साहा ने चीफ रिसोर्स पर्सन के रूप में इस फ्रेमवर्क के मूल सिद्धांतों और परिचालन पहलुओं को सभी प्राचार्यों के साथ साझा किया। सेमिनार में राज्य के विभिन्न स्कूलों 150 से अधिक प्राचार्यों ने भाग लिया।
डॉ बिश्वजीत साहा ने बताया कि क्रेडिट के असाइनमेंट के लिए एक वर्ष में कुल 1200 नेशनल लर्निंग आवर होंगे। छह महीने के प्रति सेमेस्टर में 20 क्रेडिट के साथ हर साल 1200 घंटे सीखने से न्यूनतम 40 क्रेडिट अर्जित किए जा सकते हैं। संपूर्ण स्कूली शिक्षा अवधि के दौरान एक छात्र द्वारा अर्जित कुल क्रेडिट 160 होंगे। इस फ्रेमवर्क के अनुसार तीन वर्षीय स्नातक डिग्री पाठ्यक्रम के अंत तक छात्र 120 क्रेडिट पाएगा। जब कोई छात्र पीएचडी पूरी करता है तो अर्जित क्रेडिट 320 होंगे।

छात्रों को कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ओलंपियाड, विज्ञान क्विज, इंटर्नशिप में भाग लेने और नौकरी लेने के लिए भी क्रेडिट मिलेगा। एनसीआरएफ फ्रेमवर्क में लेवल 1 से लेकर लेवल 8 तक कई स्तर प्रस्तावित किए गए हैं। स्कूली शिक्षा पूरी होने के बाद क्रेडिट स्तर प्राप्त किया जा सकता है। डिजिलॉकर की तर्ज पर नॉलेज लॉकर होगा, जिसको अपर आईडी कहा जाएगा। सीबीएसई 2024-25 के शैक्षणिक सत्र से कक्षा 6, 9 और 11 के लिए नेशनल क्रेडिट फ्रेमवर्क का ट्रायल रन शुरू करने के लिए तैयार है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।