DA Image
11 अप्रैल, 2020|12:42|IST

अगली स्टोरी

नड्डा से मिले बाबूलाल विलय पर मंथन तेज

default image

झाविमो के भाजपा में विलय की तैयारी लगभग पूरी हो गई है। इसे अब अंतिम रूप दिया जा रहा है। इसी क्रम में झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने रविवार को नई दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और चुनाव प्रभारी ओम माथुर से मुलाकात की। सूत्रों के मुताबिक इस दौरान इनके विलय को लेकर बातचीत हुई। विलय के सारे कील-कांटों को दूर कर लिया गया है। झाविमो का 17 फरवरी को दिन विधिवत भाजपा में विलय की संभावना जताई जा रही है।

विधानसभा चुनाव के संपन्न होने के बाद से झाविमो के भाजपा में विलय की चर्चा चल रही है। झाविमो एक रणनीति के तहत इस ओर कदम भी बढ़ा रहा है। बाबूलाल ने पहले पार्टी की पुरानी कार्यसमिति को भंग कर नई कार्यसमिति बनाई। जिला व मोर्चा का गठन किया। चुनाव में झाविमो के बाबूलाल समेत तीन विधायक जीते थे। बाबूलाल मंराडी ने दो विधायक प्रदीप यादव व बंधु तिर्की को पिछले दिनों पार्टी से निष्किसित किया। साथ ही विलय के बीच में आने वाले संवैधानिक बाधाओं को भी दूर कर रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक विलय के बाद बाबूलाल मरांडी को भाजपा में कोई बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। भाजपा में अभी प्रदेश अध्यक्ष और विधायक दल नेता दोनों ही पद खाली पड़े हैं। चर्चा है कि बाबूलाल मरांडी को इन दोनों में से कोई पद मिल सकता है।

ॉइधर, भाजपा के प्रदेश नेताओं से भी बाबूलाल के पार्टी में आने से फीडबैक लिया जा रहा है। बाबूलाल मरांडी सोमवार को दिल्ली से वापस आ रहे हैं। इसके बाद विलय के लिए अन्य औपचारिकताएं पूरी कर ली जाएंगी। सूत्रों के मुताबिक पहले 23 फरवरी को विलय की चर्चा थी, लेकिन दोनों नेताओं से मुलाकात के बाद इससे पहले ही विलय की संभावना जताई जा रही है। विलय के मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई अन्य नेता भी मौजूद रहेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Brainstorm over Babulal merger with Nadda